पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पौष महीने की सेहतमंद परंपराएं:सूर्य पूजा से विटामिन डी और तिल-गुड़ से बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • धर्म के साथ ही आयुर्वेदिक और वैज्ञानिक नजरिये से भी फायदेमंद है पौष महीने की परंपराएं

पौष महीना 28 जनवरी तक है। इस महीने में ब्रह्म मुहूर्त में उठना, सूर्य पूजा करना और तिल-गुड़ से लेकर तांबे के बर्तनों के इस्तेमाल तक सभी परंपराएं अच्छी सेहत को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है। इन परंपराओं को डेली रूटीन में शामिल कर लेने से टेंशन, डिप्रेशन और निगेटिविटी तो खत्म होती ही है। साथ ही इससे कई तरह की शारीरिक परेशानियों से बचा जा सकता है। पौष महीने के दौरान हेमंत और शिशिर ऋतु रहती है। इस दौरान सूर्य उत्तरी गोलार्द्ध में आगे की ओर बढ़ जाता है। जिससे धरती के इन हिस्सों में दिन बड़े हो जाते हैं और रातें छोटी होने से सूर्य की रोशनी ज्यादा देर तक रहती है। सूर्य की रोशनी में मौजूद सकारात्मक ऊर्जा से यहां के लोगों की सेहत में सुधार होने लगता है और पॉजीटिविटी भी बढ़ने लगती है।

पौष महीने की परंपराए
ऋषि मुनियों की बनाई परंपराओं में बताया गया है कि खासतौर से इस हिंदी महीने में ब्रह्म मुहूर्त में यानी सूरज निकलने से पहले उठकर तीर्थ स्नान करना चाहिए। इसके बाद उगते हुए सूरज को अर्घ्य देना चाहिए। इन दिनों में गेहूं और तिल-गुड़ से बनी मिठाइयां खासतौर से खाई जाती है और इनका दान भी किया जाता है। दिनभर तांबे के बर्तनों का पानी पिया जाता है। साथ ही जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाकर ऊनी कपड़ों का दान भी किया जाता है।

धार्मिक नजरिये से खास
काशी के ज्योतिषाचार्य पं. गणेश मिश्र बताते हैं कि पौष, भगवान सूर्य की आराधना का महीना होता है। इसलिए इस महीने सूर्य देवता और प्रसन्न करने के लिए उन चीजों का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है जिन पर सूर्य का प्रभाव होता है। इसलिए तिल-गुड़, गेहूं, ऊनी कपड़े और तांबे के बर्तनों को रोजमर्रा में खासतौर से शामिल किया जाता है। पौष महीने में गेहूं खाने और उनका दान करने से सूर्य देवता प्रसन्न होते हैं। इस महीने तांबे के बर्तनों में रखा पानी पीने और तिल-गुड़ खाने से कुंडली में मौजूद सूर्य दोष कम होने लगता है।

ज्योतिष ग्रंथों में बताया गया है कि नमक पर भी सूर्य का प्रभाव होता है। ज्योतिषाचार्य पं. मिश्र का कहना है कि ज्यादा नमक खाने से सूर्य का अशुभ असर बढ़ता है। इसलिए इन दिनों खाने में नमक की मात्रा कम करनी चाहिए। शिव पुराण में भी कहा गया है कि पौष महीने में नमक का दान करने से सेहत अच्छी रहती है।

आयुर्वेद: बढ़ती बीमारियों से लड़ने की ताकत
आयुर्वेद के जानकारों का कहना है कि ब्रह्म मुहूर्त में जागने से शरीर में वात, पित्त और कफ का बैलेंस बना रहता है। सुबह 4 से 5 बजे के बीच उठने से कफ का बढ़ना रुक जाता है। साथ ही वात और पित्त भी बराबर रहते हैं। इसलिए आयुर्वेद में कहा गया है कि जो लोग सुबह तड़के उठते हैं वे देरी से उठने वालों की बजाय ज्यादा चुस्त, ताजा महसूस करते हैं। इस मौसम में जठराग्नि भी तेज होती है। इसलिए गेहूं और तिल-गुड़ से बनी चीजें खाते हैं और तांबे का पानी पीया जाता है। जिससे शरीर की धातुओं में बैलेंस बना रहता है।

वैज्ञानिक नजरिया:

सूर्य की किरणें बढ़ाती है रोग प्रतिरोधक क्षमता
सूर्य की किरणें जीवन देती हैं। इनसे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। नॉर्वे की एक रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार सूर्य की किरणों से धीरे-धीरे उम्र बढ़ने लगती है। डिप्रेशन और मानसिक परेशानियों से भी राहत मिलने लगती है। सूर्य की किरणों में से मिलने वाला विटामिन डी हमारे शरीर में कैल्शियम के अवशोषण की क्षमता को बढ़ाता है। सूर्य की किरणों से स्नायु तंत्र की कमजोरी दूर होती है। पाचन क्रिया मजबूत होती है और इससे खून का संचार भी संतुलित रहता है। इसके साथ ही हड्डियां भी मजबूत होती हैं।

डाइटिशियन और डॉक्टरों के मुताबिक, तिल और गुड़ के इस्तेमाल से खून की कमी दूर होती है। तिल में कई न्यूट्रिएंट पाए जाते हैं, इसलिए ये दिल की बीमारियों के लिए भी फायदेमंद रहता है। तिल में कैंसर प्रतिरोधक क्षमता भी होती है। तिल में फायलेट नाम का पोष्टिक तत्व होता है। जो ट्यूमर खत्म करने में मददगार होता है। तिल में एंटीइन्फ्लामेट्री एजेंट और एंटीऑक्सीडेंट होता है। इसलिए इसे खाने से जोड़ों के दर्द में भी राहत मिलती है। इससे हड्डियां भी मजबूत होती हैं।

गुड़ वात नाशक होता है
ठंड के मौसम में गुड़ शरीर को गर्मी देता है। जिससे शरीर का तापमान बराबर रहता है। गुड़ में मिनरल्स, पोटेशियम, फॉसफोरस और ग्लूकोज होता है। इसके साथ ही इसमें मौजूद आयरन और विटामिन सी गले और फेफड़ों को संक्रमण से बचाते हैं। गुड़ से गैस्ट्रीक प्रॉब्लम दूर हो जाती है। इसको खाने से एनर्जी मिलती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें