पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Kabirdas Ke Dohe, Kabir Ke Dohe, Life Management Tips By Kabir Das, We Should Remember These Tips For Happy Life

कबीर के दोहे:मछली पानी में रहती है, लेकिन उसकी दुर्गंध खत्म नहीं होती, इसी तरह जिस व्यक्ति का मन साफ नहीं है, उसकी बुराइयां नहाने से दूर नहीं होती हैं

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कबीरदास से जुड़ी हैं ये तीन जगहें लहरतारा, काशी और मगहर

संत कबीर ने कई ऐसे दोहों की रचना की थी, जिनमें सुखी जीवन के सूत्र बताए गए हैं। कबीरदास का जन्म करीब 622 साल पहले हुआ था। मान्यता है काशी के पास स्थित लहरतारा के तालाब के पास निरू और नीमा नाम के मुस्लिम दंपत्ति को एक शिशु मिला था। वे दोनों छोटे बच्चे को अपने घर ले आए। यही शिशु आगे चलकर कबीरदास के नाम से प्रसिद्ध हुआ।

कबीरदास कबीर चौरा में प्रवचन देते थे और चरखा चलाते थे। लहरतारा में उनका जन्म हुआ, काशी में उनका जीवन व्यतीत हुआ और मगहर में उन्होंने जीवन के अंतिम दिन व्यतीत किए थे। ये तीनों जगहें कबीरदास से जुड़ी रहीं।

जानिए कबीरदास के कुछ खास दोहे...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें