पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Motivational Quotes Of Chanakya, Chanakya Niti In Hindi, Inspirational Quotes In Hindi, Prerak Vichar, Inspirational Quotes

कोट्स:अभ्यास के बिना ज्ञान बेकार हो जाता है और गरीब व्यक्ति को समारोह में अपमानित होना पड़ सकता है

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आचार्य चाणक्य ने एक नीति में बताया है कि अभ्यास के बिना पूरा ज्ञान बेकार हो जाता है। अगर किसी व्यक्ति का पेट खराब है तो उसके लिए अच्छा भोजन भी विष की तरह ही काम करता है। किसी गरीब के लिए कोई समारोह विष की तरह होता है। बड़े-बड़े लोगों के बीच अगर कोई गरीब व्यक्ति पहुंच जाता है तो उसे अपमानित होना पड़ सकता है।

चाणक्य का जन्म करीब 376 ईसा पूर्व हुआ था और मृत्यु लगभग 283 ईसा पूर्व हुई थी। वे चंद्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे। चाणक्य नीति शास्त्र के साथ ही अर्थशास्त्र के भी जानकार थे।

जानिए चाणक्य की ऐसी ही कुछ और खास बातें...