पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Motivational Story About Laziness, We Should Wake Up Early In The Morning, Prerak Prasang, Inspirational Story In Hindi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रेरक कहानी:जो लोग आलसी होते हैं, उनकी सेहत बिगड़ जाती है और पैसों से जुड़ी परेशानियां बढ़ने लगती हैं

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक धनी व्यक्ति अपना हर काम नौकरों से करवाता था, धीरे-धीरे वह बहुत मोटा हो गया, सेहत बिगड़ने लगी और कुछ नौकरों ने बेईमानी करना शुरू कर दी

जो लोग आलस्य छोड़ देते हैं, उन्हें अच्छी सेहत के साथ ही पैसों से जुड़े लाभ भी मिलने लगते हैं। ये बात एक लोक कथा से समझी जा सकती है।

कथा के अनुसार पुराने समय में एक धनी सेठ बहुत आलसी था। उसने हर काम के लिए नौकर रख लिए थे। वह दिनभर पलंग पर आराम करता और खाता-पीता रहता था। शारीरिक मेहनत न होने की वजह से धीरे-धीरे उसका मोटापा बढ़ने लगा, लेकिन उसने ध्यान नहीं दिया।

मोटापे के साथ उसे कई बीमारियां भी हो गईं। सेहत खराब रहने लगी। घर के नौकरों को भी मालूम था कि मालिक आलसी है तो उन्होंने भी बेईमानी करना शुरू दी। अब उस धनी आदमी को स्वास्थ्य के साथ ही पैसों का भी नुकसान होने लगा था।

एक दिन उसका दोस्त मिलने के लिए आया। घर आया दोस्त जानता था कि ये व्यक्ति बहुत आलसी है। उसने देखा कि धनी सेठ बीमार है। सेठ ने मित्र से इन परेशानियों को दूर करने का उपाय पूछा।

मित्र समझदार था, उसने कहा कि उपाय तो है, लेकिन तुम वह कर नहीं सकोगे। सेठ बोला कि मैं ठीक होने के लिए कुछ भी करूंगा, तुम उपाय बताओ।

मित्र ने कहा कि रोज सुबह अपने गांव में एक सुनहरा पक्षी आता है। तुम्हें रोज सुबह उसके दर्शन करना है। उसके दर्शन करने से तुम्हारी समस्याएं खत्म हो जाएंगी।

अगले दिन सेठ सुबह जल्दी उठा और घर से बाहर निकलकर सुनहरे पक्षी को खोजने लगा। उसने देखा की एक नौकर उसका अनाज चोरी करके बेच रहा है। जबकि दूसरा नौकरी दूध में पानी मिला रहा है। सेठ दोनों नौकरों पर गुस्सा हो गया और समझाया कि आगे से ऐसे गलत काम किए तो नौकरी से निकाल देगा।

उस दिन उसे सुनहरा पक्षी दिखाई नहीं दिया। अगले दिन सुबह सेठ फिर उठ गया और पक्षी को खोजने के लिए निकल पड़ा। अब रोज सेठ सुबह-सुबह जल्दी उठकर पक्षी को खोजने निकल पड़ता था। सुबह जल्दी उठने और शारीरिक मेहनत से उसकी सेहत सुधरने लगी। नौकरी भी सेठ को देखकर ईमानदारी से काम करने लगे थे। इस तरह सेठ का स्वास्थ्य भी ठीक हो गया और पैसों से जुड़ी समस्याएं भी दूर हो गईं।

एक दिन सेठ का मित्र वापस मिलने के लिए आया तो सेठ ने कहा कि मित्र तुमने तो कहा था कि सुनहरा पक्षी रोज गांव में आता है। मैं कई दिनों से रोज उसे देखने जा रहा हूं, लेकिन वह दिखाई नहीं दिया।

मित्र ने कहा कि जब से तुमने सुबह जल्दी उठकर घूमना शुरू किया है, तुम्हारी सेहत ठीक हो गई है और नौकर भी ईमानदारी से काम करने लगे हैं। तुम्हारी जीवन शैली सुधर गई है। यही वह सुनहरा पक्षी है, जिसने तुम्हारा जीवन बदल दिया है।

​​​​​​​

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें