पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जीवन प्रबंधन:जो लोग सिर्फ पैसों को महत्व देते हैं और परिवार की ओर ध्यान नहीं देते, उन्हें एक दिन इसके लिए पछताना पड़ता है

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक व्यक्ति ने जीवनभर सिर्फ धन कमाया, एक दिन उसे लेने यमराज पहुंच गए, धनी व्यक्ति ने कहा, 'मेरी सारी धन-संपत्ति ले लो, लेकिन मुझे थोड़ा सा समय दे दीजिए

जो लोग पैसों को बहुत ज्यादा महत्व देते हैं और घर-परिवार की ओर ध्यान नहीं देते हैं, उन्हें एक दिन इसके लिए पछताना पड़ता है। पैसा कमाने के साथ ही परिवार के साथ भी समय व्यतीत करना चाहिए। क्योंकि, गुजरा हुआ समय वापस नहीं आता है। इस संबंध में एक लोक कथा प्रचलित है। जानिए ये कथा...

पुराने समय में एक व्यक्ति दिन-रात सिर्फ धन कमाने में लगे रहता था। लालच की वजह से पैसा खर्च भी नहीं करता और परिवार की ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं देता था। धनी व्यक्ति की इस आदत की वजह से उसका परिवार दुखी था।

पैसों कमाने के चक्कर में वह व्यक्ति इतना व्यस्त रहता था कि उसका बुढ़ापा कब आ गया, उसे मालूम भी नहीं चला। एक दिन उसके सामने यमराज प्रकट हो गए। यमराज ने कहा कि तुम्हारा अंतिम समय आ गया है। मैं तेरे प्राण लेने आया हूं।

यमराज को देखकर वह व्यक्ति डर गया। उसने कहा कि अभी तो मैंने जीवन में कुछ देखा ही नहीं है। मैं अपने काम में लगा हुआ था। मैं घर-परिवार को भी समय नहीं दे पाया हूं। उनके साथ एक दिन भी प्रेम से नहीं रहा। मुझे कुछ समय दे दीजिए मैं परिवार के साथ समय बिताना चाहता हूं।

यमराज ने कहा कि ये नहीं हो सकता। तुम्हें मेरे साथ चलना पड़ेगा।

व्यक्ति बोला कि मेरी सारी धन-संपत्ति ले लो, लेकिन मुझे सिर्फ एक दिन परिवार के साथ रहने दो।

यमराज बोले कि हमें धन-संपत्ति का मोह नहीं है। हम तुम्हें एक पल भी अतिरिक्त नहीं दे सकते हैं। ये बोलते ही यमराज ने उसके प्राणों का हरण कर लिया।

सीख- समय अमूल्य है। एक बार गुजरा समय लौटकर नहीं आता है। इसीलिए धन कमाने के साथ ही घर-परिवार का भी ध्यान रखना चाहिए। वरना समय निकलने के बाद पछताना पड़ता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

और पढ़ें