पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Narmada Jayanti On 19 February, Surya Puja Tips, Rath Saptami Significance, Surya Puja Vidhi, Worship Method For Surya Puja

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पर्व:शुक्रवार को सूर्य के साथ ही नर्मदा नदी की भी पूजा करें, शनिवार को सूर्योदय से सूर्यास्त तक रहेगा सर्वार्थ सिद्धि योग

12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी को मनाई जाती है नर्मदा जयंती

शुक्रवार, 19 फरवरी को माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी है। इस तिथि पर नर्मदा नदी की जयंती मनाई जाती है। इसे रथ सप्तमी कहा जाता है। इसी दिन सूर्य देव की भी विशेष पूजा जरूर करनी चाहिए। क्योंकि, सप्तमी तिथि पर सूर्य पूजा करने की परंपरा है। शुक्रवार के बाद शनिवार को सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा। इस योग में किसी भी शुभ काम की शुरुआत की जा सकती है। सर्वार्थ सिद्धि योग सभी काम को सिद्ध करने वाला माना जाता है।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार रथ सप्तमी तिथि पर पूजा के बाद दान-पुण्य करना चाहिए। नर्मदा नदी के किनारे जाकर पूजा नहीं कर पा रहे हैं तो अपने घर पर ही नर्मदा का ध्यान करते हुए पूजा करनी चाहिए।

नर्मदा नदी से जुड़ी खास बातें

मान्यता है कि नर्मदा नदी की उत्पत्ति शिवजी के पसीने की बूंदों से हुई है। शिवजी की कृपा से नर्मदा नदी के रूप में बह रही है। इसे रेवा के नाम से भी जाना जाता है। मैकल पर्वत पर उत्पन्न होने के कारण इसे मैकाले सुता भी कहा जाता है।

ये नदी अमरकंटक पर्वत से निकलती है और करीब 1200 किमी का सफर करके गुजरात के खंभात में अरब सागर में मिल जाती है। स्कंद पुराण के अनुसार, नर्मदा प्रलय काल में भी रहेगी। मत्स्य पुराण के अनुसार नर्मदा के दर्शन से पवित्रता आती है। ये नदी देश सात सबसे पवित्र नदियों में से एक है।

ऐसे करें सूर्य की पूजा

सप्तमी तिथि पर स्नान के बाद तांबे के लोटे में जल भरें और उसमें लाल फूल, चावल डालकर सूर्य को अर्घ्य अर्पित करें। सूर्य मंत्र ऊँ सूर्याय नम: मंत्र का जाप करें। मंत्र जाप कम से कम 108 बार करें। सूर्य के लिए गुड़ का दान करना चाहिए।

शुक्रवार को ये शुभ काम भी जरूर करें

इस तिथि पर पूजा-पाठ के बाद किसी गौशाला में धन और हरी घास दान करें। जरूरतमंद लोगों को वस्त्र और भोजन दान करें। किसी मंदिर में पूजा-पाठ से जुड़ी चीजें अर्पित करें।

शिवलिंग पर जल चढ़ाएं और ऊँ नम: शिवाय मंत्र का जाप 108 बार करें। बिल्व पत्र, धतूरा, जनेऊ चढ़ाएं। चंदन से तिल करें। धूप-दीप जलाकर आरती करें। भोग में मिठाई अर्पित करें।

हनुमानजी के मंदिर दीपक जलाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

और पढ़ें