• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • On Thursday, The Third Coincidence Of Ekadashi, 6 Auspicious Yogas Including Sarvarthasiddhi, Worship Of Lord Vishnu And Lakshmi Will Increase Prosperity On Apara Ekadashi.

गुरुवार को एकादशी का तीसरा संयोग:अपरा एकादशी पर सर्वार्थसिद्धि सहित 6 शुभ योग, भगवान विष्णु और लक्ष्मी की पूजा से बढ़ेगी समृद्धि

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

26 मई, गुरुवार को अपरा एकादशी व्रत किया जाएगा। ये साल का तीसरा ऐसा संयोग है जब गुरुवार पर एकादशी तिथि पड़ रही है। दोनों के ही स्वामी भगवान विष्णु होने से इस दिन व्रत और पूजा और खास रहेगी। इस एकादशी पर तिथि, वार, नक्षत्र और ग्रहों से मिलकर सूर्योदय के साथ ही 6 शुभ योग बनेंगे। जिससे अपरा एकादशी व्रत का कई गुना शुभ फल मिलेगा और इस दिन भगवान विष्णु-लक्ष्मी की पूजा से समृद्धि बढ़ेगी।

सुख-समृद्धि बढ़ाने वाले 6 शुभ योग
पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र बताते हैं कि गुरुवार को सूर्योदय के साथ ही सर्वार्थसिद्धि योग शुरू हो जाएगा। वहीं, सूर्य-बुध से बुधादित्य, गुरु-चंद्र-मंगल से गजकेसरी और महालक्ष्मी योग रहेगा। साथ ही आयुष्मान और मित्र नाम के शुभ योग भी इस दिन रहेंगे। सितारों की इस शुभ स्थिति में किए गए कामों का कई गुना शुभ फल मिलता है। ग्रहों के इस महासंयोग में खरीदारी, लेन-देन और निवेश करने से लंबे समय तक फायदा मिलेगा।

तीसरी बार गुरुवार को एकादशी का संयोग
डॉ. मिश्र के मुताबिक गुरुवार और एकादशी दोनों के स्वामी भगवान विष्णु हैं। ऐसा योग कम ही होता है जब गुरुवार को एकादशी तिथि भी हो। इस साल कुल चार बार ऐसा होगा। इनमें 13 जनवरी, गुरुवार को पुत्रदा एकादशी थी। फिर 12 मई को मोहिनी एकादशी और अब 26 मई को अपरा एकादशी पर गुरुवार का संयोग बन रहा है। इसके बाद 6 अक्टूबर, गुरुवार को पापांकुशा एकादशी का आखिरी संयोग बनेगा।

व्रत के साथ ही स्नान-दान की भी परंपरा
ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को अपरा एकादशी कहा जाता है। इस तिथि पर पूरे दिन उपवास रखा जाता है। लेकिन उपवास न रख पाएं तो व्रत कर सकते हैं। लेकिन इसमें भी अन्न नहीं खा सकते। सिर्फ फल और दूध ले सकते हैं। इस दिन पवित्र नदियों के जल से स्नान किया जाता है। जरुरतमंद लोगों को खाना और जलदान करने की भी परंपरा है। वहीं, भगवान विष्णु और लक्ष्मीजी की पूजा करने से सुख और समृद्धि बढ़ती है। जाने-अनजाने में हुए हर तरह के पाप खत्म हो जाते हैं।

खबरें और भी हैं...