सुकरात के विचार:हमें हर एक व्यक्ति के लिए दयालु रहना चाहिए, क्योंकि सभी लोग अपने-अपने जीवन में कठिन लड़ाई लड़ रहे हैं

9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुकरात ग्रीक यानी यूनान के महान दार्शनिक थे। उनका जन्म 469 ईसा पूर्व में हुआ था। सुकरात ने कभी कोई ग्रंथ नहीं लिखा, लेकिन वे अपनी बुद्धिमानी और अच्छे विचारों की वजह से प्रसिद्ध थे। उनके कई दुश्मन भी थी। उनके दुश्मनों ने सुकरात पर मुकदमा चलवा दिया। दुश्मनों के आरोप थे कि सुकरात युवाओं को बिगाड़ रहे हैं। कारागर में ही इन्होंने विष पान करके देह त्याग दी। उनकी मृत्यु 399 ईसा पूर्व हुई थी।

जानिए सुकरात के कुछ खास विचार...