• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Sawan Will End On August 11: The Last Seven Days Of This Month Will Be Special, There Will Be Five Fasts And Two Planets' Zodiac Changes.

11 अगस्त को खत्म होगा सावन:इस महीने के आखिरी सात दिन होंगे खास, इनमें रहेंगे पांच व्रत-पर्व और दो ग्रहों का राशि परिवर्तन

4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सावन महीना 11 अगस्त तक रहेगा। इस हिंदी महीने के आखिरी सात दिन खास होंगे। 5 से 11 अगस्त तक पूजा-पाठ और व्रत-पर्व के पांच दिन रहेंगे और दो दिन ग्रहों के राशि परिवर्तन वाले रहेंगे। सावन के इन आखिरी दिनों में शुक्रवार से गुरुवार तक हर दिन कोई खास तिथि या तीज-त्योहार रहेगा। सावन में हर दिन शिव पूजा करने का विधान शिव पुराण में बताया गया है। लेकिन साथ ही कहा है कि इस पवित्र महीने में किए गए व्रत-उपवास और दान करने से कई गुना पुण्य फल मिलता है। इसलिए सावन में आने वाले पर्वों का महत्व और बढ़ जाता है।

5 अगस्त, शुक्रवार: इस दिन सावन महीने की अष्टमी तिथि है। इस तिथि पर भगवान काल भैरव की पूजा और व्रत किया जाएगा। भगवान शिव का ही रुद्रावतार होने से सावन में काल भैरव पूजा का विशेष महत्व ग्रंथों में बताया गया है।

6 अगस्त, शनिवार: ये सावन महीने का आखिरी शनिवार रहेगा। इस दिन भगवान नृसिंह, हनुमान और शनि देव की पूजा और व्रत करने का विधान हैं। इन तीनों देवताओं की पूजा से हर तरह की परेशानियां दूर हो जाती हैं।

7 अगस्त, रविवार: इस दिन शुक्र ग्रह राशि बदलकर कर्क में आ जाएगा। जिससे कर्क, कन्या और मीन राशि वालों के लिए अच्छा समय शुरू हो जाएगा। इस ग्रह के प्रभाव से कई लोगों का खर्चा भी बढ़ सकता है।

8 अगस्त, सोमवार: ये सावन का आखिरी सोमवार रहेगा। साथ ही इस हिंदी महीने की आखिरी एकादशी भी रहेगी। इसे पुत्रदा एकादशी कहा जाता है। इस व्रत से हर तरह के पाप खत्म हो जाते हैं और जिन लोगों को संतान नहीं उनको संतान मिलती है।

9 अगस्त, मंगलवार: इस दिन सावन का दूसरा और आखिरी प्रदोष रहेगा। मंगलवार को त्रयोदशी तिथि का संयोग शुभ होगा। इस दिन भगवान शिव-पार्वती के साथ हनुमान जी की भी पूजा करने का बहुत महत्व रहेगा।

10 अगस्त, बुधवार: इस दिन मंगल की चाल बदलेगी। ये ग्रह मेष से निकल कर वृष राशि में चला जाएगा। जिससे राहु के साथ बन रहा अशुभ अंगारक योग भी खत्म हो जाएगा। मंगल का राशि परिवर्तन कर्क, धनु और मीन राशि वाले लोगों के लिए शुभ रहेगा।

11 अगस्त, गुरुवार: इस दिन श्रवण नक्षत्र और पूर्णिमा का संयोग बन रहा है। इसलिए रक्षा बंधन पर्व मनेगा। इस पर्व पर भगवान विष्णु-लक्ष्मी के साथ शिव पूजा का भी विधान है। क्योंकि ये सावन का आखिरी दिन रहेगा। इसके बाद भाद्रपद मास शुरू हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...