पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Significance Of Vaishakh Month, Tradition Of Vaishakh Month, Hindi Panchang, Mythological Tips About Vaishakh Month

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परंपराएं:वैशाख मास में सूर्योदय के समय स्नान करने की परंपरा, पानी और छाते का दान करें

16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मटका, जूते-चप्पल, पंखे, नए कपड़े, अन्न और फलों का दान वैशाख मास में जरूर करें

हिन्दी पंचांग का दूसरा माह वैशाख शुरू हो गया है। इस माह में पवित्र नदियों में स्नान करने की और दान-पुण्य करने का विशेष महत्व है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार वैशाख मास में खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ये समय गर्मी का है और इस दौरान रहन-सहन में सतर्कता रखी जाती है तो मौसमी बीमारियों से रक्षा हो सकती है।

स्कंदपुराण वैशाख मास के बारे में लिखा है कि-

न माधवसमो मासो न कृतेन युगं समम्।

न च वेदसमं शास्त्रं न तीर्थं गंङ्गया समम्।।

अर्थ- वैशाख के समान कोई मास नहीं है, सत्ययुग के समान कोई युग नहीं है। वेद के समान को शास्त्र नहीं है और गंगाजी के समान कोई तीर्थ नहीं है।

वैशाख मास 26 मई 2021 तक रहेगा। ये महीना बुधवार से शुरू होकर बुधवार को ही बुद्ध पूर्णिमा पर खत्म होगा। इस मास को ब्रह्माजी ने सब मासों में उत्तम सिद्ध किया है। यह मास माता की तरह सब जीवों की इच्छाओं को पूरा करने वाला है। ये महीना वृक्षों में कल्पवृक्ष के समान और शिवजी, विष्णु को प्रसन्न करने वाला है।

इस माह में हमें सूर्यादय से पहले बिस्तर छोड़ देना चाहिए और सूर्योदय से पहले या सूर्योदय के समय स्नान कर लेना चाहिए। इस माह में सभी तीर्थ, देवता आदि तीर्थ के अतिरिक्त बाहर के जल में भी स्थित रहते हैं। सूर्योदय के समय स्नान करने से देवता और तीर्थ भक्तों को रोगमुक्त करते हैं और श्रेष्ठ स्वास्थ्य प्रदान करते हैं।

वैशाख मास में जलदान करने से अक्षय पुण्य प्राप्त हो जाता है। जो जलदान करने में भी असमर्थ हो तो वह दूसरों को जलदान करने के लिए प्रेरित करें। इस माह में जो प्याउ लगवाता है, वह देवता, ऋषि और पितर सभी को तृप्त करता है। जिसने एक व्यक्ति को भी जल पिलाया है, वह ब्रह्मा, विष्णु और शिवजी की कृपा प्राप्त करता है।

वैशाख मास में पानी की इच्छा वालों को पानी, छाया चाहने वालों को छाता, गर्मी से त्रस्त व्यक्ति को पंखा, जूते-चप्पल आदि का दान करना चाहिए। इन दानों से दस हजार राजसूय यज्ञ के फल के बराबर पुण्य फल मिलता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

और पढ़ें