पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Success Is Not Achieved By Changing The Path Again And Again, Significance Of Patience, We Should Have Patience In Life, Buddha Story In Hindi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बुद्ध की कथा:बार-बार रास्ता बदलने से नहीं मिलती है कामयाबी, लक्ष्य बड़ा है तो धैर्य के साथ सही दिशा में आगे बढ़ें

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक गांव के बाहर खेत में खुदे हुए थे बहुत सारे गड्ढे, शिष्यों ने गौतम बुद्ध से पूछा इन गड्ढों का रहस्य

जो लोग धैर्य से काम नहीं लेते हैं, उनकी परेशानियां बढ़ती हैं और वे किसी भी काम में सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं। लक्ष्य पूरा करना चाहते हैं तो धैर्य होना बहुत जरूरी है। इस संबंध में गौतम बुद्ध की एक प्रेरक कथा प्रचलित है...

गौतम बुद्ध अपने शिष्यों के साथ एक जगह से दूसरी जगह भ्रमण करते रहते थे। इस दौरान वे आसपास होने वाली घटनाओं से भी जीवन में सुख-शांति बनाए रखने के उपदेश देते थे। एक दिन वे अपने शिष्यों के साथ यात्रा कर रहे थे।

रास्ते में एक खेत में बहुत सारे गड्ढे खुदे हुए थे। एक ही खेत में इतने सारे गड्ढे देखकर सभी शिष्य हैरान थे। किसी को भी ये समझ नहीं आ रहा था कि आखिर किसी ने एक साथ इतने गड्ढे क्यों खोदे हैं।

शिष्यों ने बुद्ध से पूछा, 'तथागत कृपया बताएं, एक खेत में इतने सारे गड्ढों का क्या रहस्य है?'

बुद्ध ने कहा, 'इस खेत के मालिक ने पानी की खोज करते हुए इतने गड्ढे खोद दिए हैं। वह कुआं खोद रहा था, लेकिन उसमें धैर्य की कमी थी। थोड़ा सा गड्ढा खोदने पर पानी नहीं निकला तो उसने दूसरा गड्ढा खोदना शुरू किया। दूसरे में पानी नहीं निकला तो तीसरा गड्ढा खोदा। इसी तरह उसने खेत में जगह-जगह गड्ढे खोद दिए। अगर पर धैर्य के साथ एक ही जगह पर गड्ढा खोदते रहता तो उसे पानी जरूर मिल जाता।'

कथा की सीख

जिन लोगों में धैर्य की कमी है, वे लोग हमेशा परेशान रहते हैं। जल्दबाजी में काम सुधरते नहीं है, बल्कि बिगड़ जाते हैं। इसीलिए हमेशा धैर्य धारण किए रहना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

और पढ़ें