पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Jyotish
  • Budh Margi 2020 Jyotish Astrology Mercury Libra Horoscope Update | Budh Ka Rashifal For Sagittarius Capricorn Aquarius, Budh Margi Horoscope For Gemini Taurus Effects And Impacts

ग्रह-गोचर:बुध 3 नवंबर को तुला राशि में होंगे मार्गी; बिजनेस में आ सकती है तेजी, राजनीति में बढ़ेगा बुद्धिमानों का वर्चस्व

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बुध ग्रह की चाल बदलने का अच्छा-बुरा असर पड़ता है बिजनेस पर, इनकम भी प्रभावित होती है इससे

हिंदू कैलेंडर के कार्तिक महीने में कृष्णपक्ष की तृतीया तिथि को बुध की चाल में बदलाव हो रहा है। काशी के ज्योतिषाचार्य पं. गणेश मिश्र के मुताबिक ये ग्रह 21 दिन वक्री चाल चलने के बाद 3 नवंबर को रात को तुला राशि में मार्गी होने वाला है। यानी बुध की चाल सीधी हो जाएगी। इससे पहले 14 अक्टूबर को ये ग्रह तुला राशि में वक्री हुआ था। इसके कारण सभी राशियों की आर्थिक स्थिति में बदलाव हुए थे। इसी ग्रह के कारण देश की अर्थव्यवस्था में भी बदलाव होते हैं। ज्योतिष में बुध को राजकुमार, बुद्धि, विद्या और लेखन शक्ति का कारक ग्रह बताया गया है।

कामकाज में आएगी तेजी
पं. मिश्र ने बताया कि बुध के मार्गी होने के कारण सभी राशियों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। धन लाभ के मौके मिलेंगे और इनकम भी बढ़ सकती है। व्यापारिक गतिविधियां में सुधार होगा। कामकाज में तेजी आएगी। लोगों को बुद्धि की वजह से फायदा होगा। राजनीति में बुद्धिमान लोगों का वर्चस्व बढ़ेगा। सरकारी नौकरी करने वाले लोगों को फायदा होगा। धैर्य और संयम में वृद्धि होगी। रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। विद्यार्थियों का मन पढ़ाई में लगने लगेगा। बुध का वक्री और मार्गी होने का सबसे ज्यादा असर बिजनेस पर पड़ता है। वक्री बुध के समय में बिजनेस में मंदी रहती है। हानि उठाना पड़ती है और कर्ज लेकर व्यापार चलाना पड़ता है। लेकिन बुध के मार्गी होते ही यह परेशानी दूर हो जाती है। बिजनेस में तरक्की होने लगती है। धन का आगमन सुचारु होने लगता है।

लेन-देन और निवेश पर पड़ता है शुभ-अशुभ असर
पं. मिश्र का कहना है कि किसी भी राशि में ग्रह का वक्री और मार्गी होने से हर राशि वालों के जीवन में बदलाव होते हैं। जो कि जॉब, बिजनेस, लेन-देन, निवेश, सेहत, लव लाइफ और कई तरह के हो सकते हैं। हालांकि, कुंडली में मौजूद ग्रह स्थिति के मुताबिक यह असर कम-ज्यादा हो सकता है। बुध के खराब परिणामों में फैसला लेने की क्षमता न होना, सिर दर्द, स्किन और अन्य रोग होने की आशंका बनी रहती है। बुध ग्रह के अच्छे प्रभाव से वाणी, शिक्षा, शिक्षण, गणित और तर्क शक्ति से फायदा मिलता है।

वृष, कर्क और वृश्चिक राशियों को रहना होगा सावधान

मेष: पराक्रम में वृद्धि, बुद्धि का सकारात्मक एवं सफल प्रयोग हो सकेगा।
वृष: धन को लेकर थोड़े तनाव के साथ प्रगति, वाणी में संयम रखने की आवश्यकता।
मिथुन: स्वास्थ्य, सुख, विद्या में वृद्धि, संतान के पक्ष में प्रगति संभव।
कर्क: माता के स्वास्थ्य को लेकर चिंता रह सकती है। गृह व वाहन संबंधित खर्च संभव।
सिंह: धन संबंधित कार्यों में अवरोध के साथ सफलता मिलने की संभावना।
कन्या: परिवार में नया कार्य, व्यापार में विस्तार, वाणी व्यवसाय से जुड़े लोगों को लाभ मिलेगा।
तुला: कार्य क्षमता के बल पर नया कार्य या कार्यों में विस्तार कर सकते हैं।
वृश्चिक: व्यय में अधिकता, आंतरिक रोग, ऋण एवं शत्रु के प्रति सावधान रहें।
धनु: जीवनसाथी के सहयोग और सान्निध्य में वृद्धि की संभावना।
मकर: राज्य सम्मान एवं परिश्रम में वृद्धि, कार्य क्षेत्र में प्रगति परंतु स्वास्थ्य के प्रति रहे सजग रहे।
कुंभ: भाग्य का साथ और उच्चाधिकारियों का सहयोग मिलेगा।
मीन: व्यापार से जुड़े लोगों को लाभ, जीवनसाथी के स्वास्थ्य के प्रति रहे सजग रहे।

खबरें और भी हैं...