• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Jyotish
  • Guru Pushya Shubh Yog; Shopping For Weddings Shubh Muhurat Update | Auspicious Day For Investment In Real Estate Property And House Purchase Date For New Car, Bike And More

शादियों की खरीदारी के लिए सबसे शुभ मुहूर्त:25 नवंबर को पुष्य नक्षत्र, रियल एस्टेट में निवेश और नई शुरुआत के लिए भी शुभ दिन

11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुष्य नक्षत्र की धातु सोना है, इसलिए इस योग में दूल्हा-दुल्हन के लिए ज्वेलरी खरीदने की परंपरा
  • रिश्तों में स्थिरता और अमरता देने वाला है पुष्य नक्षत्र, इसमें की गई खरीदारी से बढ़ती है समृद्धि

दीपावली के बाद इस महीने फिर से खरीदारी के लिए पुष्य नक्षत्र का संयोग बन रहा है। 25 नवंबर को साल का आखिरी गुरु पुष्य योग बन रहा है। इस दिन अमृत सिद्धि और सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेंगे। इन शुभ योगों में किया गया निवेश फायदेमंद होता है। साथ ही इस दौरान की गई खरीदी स्थाई और शुभ फल देने वाली होती है। तीन बड़े शुभ योग बनने के कारण ये दिन रियल एस्टेट में निवेश, नए कामों की शुरुआत, वाहन, ज्वेलरी, कपड़े और अन्य चीजों की खरीदारी के लिए शुभ रहेगा।

दूल्हा-दुल्हन के लिए ज्वेलरी खरीदने का मुहूर्त
गुरुवार को पुष्य नक्षत्र में की गई खरीदी समृद्धि देने वाली होती है। इस नक्षत्र की धातु सोना है। बृहस्पति देव का वार होने से इस योग में दुल्हा-दुल्हन के लिए सोना और ज्वेलरी खरीदने से समृद्धि बनी रहती है। विद्वानों का कहना है कि गुरु पुष्य योग में दुल्हा-दुल्हन के लिए ज्वेलरी खरीदने से बृहस्पति का शुभ प्रभाव रहता है। इससे वैवाहिक जीवन के दोषों में कमी आती है और दांपत्य सुख भी बढ़ता है।

पुष्य नक्षत्र में रियल एस्टेट के साथ ही वाहन, मशीनरी और अन्य स्थाई सम्पत्ति में किया गया निवेश लंबे समय तक फायदा देता है। इस दिन चांदी, कपड़ा, बर्तन, इलेक्ट्रॉनिक चीजों की खरीदी भी शुभ रहती है। इस शुभ मुहूर्त में खरीदा गया व्हीकल कई दिनों तक चलता है और उससे फायदा मिलता है। इस शुभ संयोग में नया बिजनेस और नौकरी की शुरुआत करना भी फलदायी माना गया है।

रिश्तों में स्थिरता और अमरता देने वाला नक्षत्र
पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के मुताबिक सभी 27 नक्षत्रों में पुष्य को राजा माना जाता है। इस नक्षत्र को शास्त्रों में अमरेज्य भी कहा गया है। यानी वो नक्षत्र जो जीवन में स्थिरता और अमरता लेकर आता है। इस नक्षत्र में शादियों के लिए की गई खरीदारी से रिश्तों में मिठास और मजबूती आती है। पुष्य नक्षत्र का स्वामी शनि होता है, लेकिन प्रकृति गुरु के जैसी होती है। जब भी गुरुवार को पुष्य नक्षत्र पड़ता है तो इससे बनने वाला गुरु पुष्य योग सुख-समृद्धि और सफलता देने वाला होता है। इसलिए पुष्य नक्षत्र में शादियों के लिए खरीदारी करने की परंपरा है।

रियल एस्टेट में निवेश करना शुभ
गुरु पुष्य नक्षत्र के संयोग में जमीन की रजिस्ट्री करने से बहुत फायदा मिलता है। नए कामों की शुरुआत भी इस शुभ योग में करनी चाहिए। इस गुरुवार को शुक्ल, शुभ और ब्रह्म नाम के योग बनने के साथ शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि होने से ये दिन और भी प्रभावशाली हो गया है। इस शुभ संयोग के चलते शेयर मार्केट, रियल एस्टेट और अन्य जगहों में निवेश करने से फायदा मिलेगा। साथ ही व्हीकल खरीदी का विशेष मुहूर्त इस दिन बन रहा है। वहीं, गुरुवार को ज्वेलरी, फर्नीचर और अन्य जरूरी चीजों की खरीदारी के साथ ही नए कामों की शुरुआत करना भी शुभ रहेगा।

इसके बाद 28 जुलाई 2022 को बनेगा ये संयोग
गुरुवार को सूर्योदय के साथ ही पुष्य नक्षत्र शुरू होगा जो शाम तकरीबन 6.50 तक रहेगा। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि और अमृत सिद्धि योग भी पुष्य नक्षत्र के साथ शुरू और खत्म होंगे। इसलिए हर तरह की खरीदारी, निवेश और नए कामों की शुरुआत के लिए पूरा दिन शुभ रहेगा। इसके बाद अगले साल, यानी 28 जुलाई 2022 को पूरे दिन-रात पुष्य नक्षत्र होने पर फिर से गुरु-पुष्य योग बनेगा।

खबरें और भी हैं...