पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Jyotish
  • Shaadi Vivah Shubh Muhurat 2021; Hindu Marriage Dates, List Of Auspicious Wedding Tithi In January April May November December

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इस साल शादी के 51 मुहूर्त:साल का पहला विवाह मुहूर्त 18 जनवरी को फिर 3 महीने बाद शुरू होंगे मांगलिक काम

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 14 जनवरी को खरमास खत्म हुआ लेकिन 19 को गुरु तारा अस्त होने से वसंत पंचमी तक नहीं है कोई विवाह मुहूर्त

मकर संक्रांति पर सूर्य के धनु से मकर राशि में आने पर खरमास खत्म हो जाएगा। जिससे मांगलिक कामों की शुरुआत हो जाएगी। फिर 18 जनवरी को साल का पहला विवाह मुहूर्त रहेगा। इसके अगले ही दिन बृहस्पति यानी गुरु तारा अस्त हो जाएगा जो कि 16 फरवरी तक अस्त ही रहेगा। फिर 16 फरवरी को ही शुक्र भी अस्त हो जाएगा। जो कि 17 अप्रैल तक अस्त रहेगा। इन दोनों के अस्त हो जाने से कोई विवाह मुहूर्त नहीं रहेगा। इसलिए साल का पहला विवाह मुहूर्त रहेगा। 22 अप्रैल को रहेगा। हालांकि 16 फरवरी को वसंत पंचमी पर अबूझ मुहर्त होने से इस दिन भी विवाह किए जाएंगे।

वसंत पंचमी पर भी नहीं हो पाएंगे विवाह

16 फरवरी को वसंत पंचमी है। इसे भी विवाह के लिए अबूझ मुहूर्त माना जाता है लेकिन इस दिन सूर्योदय के साथ ही शुक्र तारा अस्त हो जाएगा। इस कारण पंचांगों में इसे विवाह मुहूर्त में नहीं गिना गया है। हालांकि, लोक परंपरा के चलते उत्तराखंड सहित देश के कई हिस्सों में वसंत पंचमी पर विवाह होते हैं।

2021 में सिर्फ 51 मुहूर्त

2021 में विवाह के लिए सिर्फ 51 दिन रहेंगे। 18 जनवरी को पहला मुहूर्त रहेगा। इसके बाद बृहस्पति और शुक्र ग्रह के कारण साल के शुरुआती महीनों में विवाह नहीं हो पाएंगे। मकर संक्रांति के बाद 19 जनवरी से 16 फरवरी तक गुरु तारा अस्त रहेगा। फिर 16 फरवरी से ही शुक्र तारा 17 अप्रैल तक अस्त रहेगा। इस कारण विवाह का दूसरा मुहूर्त 22 अप्रैल को है। इसके बाद देवशयन से पहले यानी 15 जुलाई तक 37 दिन विवाह के मुहूर्त है। वहीं, 15 नवंबर को देवउठनी एकादशी से 13 दिसंबर तक विवाह के लिए 13 दिन रहेंगे।

14 मई को आखातीज का अबूझ मुहूर्त

इस साल शादी का पहला शुभ मुहूर्त 22 अप्रैल को रहेगा। इसके बाद शादियों का दौर शुरू हो जाएगा, लेकिन 14 मई को साल का सबसे बड़ा मुहूर्त अक्षय तृतीया को अबूझ मुहूर्त में रहेगा। अक्षय तृतीय स्वयं सिद्ध मुहूर्त के रूप में रहेगा। वहीं 18 जुलाई को भी भड़ली नवमी पर अबूझ मुहूर्त भी बन रहा है। यही नहीं 15 नवंबर को तुलसी एकादशी या देव प्रबोधिनी एकादशी को भी विवाह मुहूर्त रहेगा।

स्वयं सिद्ध होते हैं अबूझ मुहूर्त

काशी के ज्योतिषाचार्य पं. गणेश मिश्र के मुताबिक अबूझ मुहूर्त स्वयंसिद्ध होते हैं। इन दिनों में गुरु, शुक्र, सूर्य आदि के दोषों का प्रभाव कम होता है। इसलिए ये दिन विवाह आदि के लिए उपयुक्त माने गए हैं।

2021 के विवाह मुहूर्त

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser