सावधानियां / चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल तक, देवी मां के व्रत कर रहे हैं घर में क्लेश न करें और क्रोध से बचें

Chaitra Navratri, till April 2, is fasting at the Mother Goddess Do not suffer at home and avoid anger
X
Chaitra Navratri, till April 2, is fasting at the Mother Goddess Do not suffer at home and avoid anger

  • देवी दुर्गा की पूजा में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें, गणेश पूजन भी जरूर करें

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 01:22 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क. शुक्रवार, 27 मार्च को चैत्र नवरात्रि का तीसरा दिन है। ये नवरात्रि 2 अप्रैल तक चलेगी। इन दिनों में देवी दुर्गा की पूजा की जाती है। जो लोग चैत्र नवरात्रि में पूजा करते हैं और व्रत करते हैं, उन्हें कुछ सावधानियां रखनी चाहिए। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार जानिए देवी भक्तों को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए...

रोज सुबह जल्दी जागें

जो लोग नवरात्रि में देवी दुर्गा की विशेष पूजा कर रहे हैं, उन लोगों को सुबह देर तक सोने से बचना चाहिए। सुबह जल्दी उठें और स्नान के बाद देवी पूजा करें। पूजा-पाठ के लिए सुबह का समय श्रेष्ठ माना गया है। सुबह-सुबह पूजा करने से मन की एकाग्रता बनी रहती है।

घर-परिवार में किसी का अपमान न करें

पूजा-पाठ का फल पाना चाहते हैं तो अपने घर-परिवार और समाज में सभी का सम्मान करें। माता-पिता एवं बुजुर्गों का अनादर न करें। जो लोग माता-पिता का अपमान करते हैं, उन्हें पूजा-पाठ का फल नहीं मिलता है।

घर में साफ-सफाई रखें

इस साल दुनियाभर में कोरोनावायरस का संक्रमण फैला हुआ है। ऐसी स्थिति में घर में ही रहें और घर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। देवी मां पूजा में भी साफ-सफाई का विशेष महत्व है। गंदगी की वजह से नकारात्मकता बढ़ती है और बुरे विचार बढ़ते हैं।

घर में क्लेश न करें, क्रोध से बचें

पुरानी मान्यता है कि जिन घरों में क्लेश होता है, जहां के लोग हर बात पर क्रोध करते हैं, वहां सुख-शांति नहीं रहती है। इसीलिए घर में वाद-विवाद से बचें और क्रोध न करें।

जरूरतमंद लोगों को दान करें

इन दिनों में दान करने का विशेष महत्व है। जरूरतमंद लोगों को अनाज और धन का दान करें। नवरात्रि में फलों का दान भी करना चाहिए।

इस मंत्र का करें जाप

नवरात्रि में देवी मां के मंत्रों का जाप करना चाहिए। दुर्गा शप्तसती का पाठ भी कर सकते हैं। मंत्र का उच्चारण भी एकदम सही होना चाहिए। अगर आप मंत्रों का उच्चारण ठीक से नहीं कर पा रहे हैं तो किसी ब्राह्मण से मंत्र जाप करवा सकते हैं।

देवी मंत्र- या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना