• Home
  • Jharkhand News
  • Barkakana
  • मदरसों तक सरकारी फंड नहीं पहुंचने पर जताई चिंता
--Advertisement--

मदरसों तक सरकारी फंड नहीं पहुंचने पर जताई चिंता

सरकारी फंड मदरसों तक सही रूप से नहीं पहुंच रहा है। मुस्लिम समुदाय के बच्चे सही तालीम से महरूम हो रहे हैं। अभाव में...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:05 AM IST
सरकारी फंड मदरसों तक सही रूप से नहीं पहुंच रहा है। मुस्लिम समुदाय के बच्चे सही तालीम से महरूम हो रहे हैं। अभाव में उन्हें शिक्षा लेनी पड़ रही है। ऐसे में समुदाय का विकास किस प्रकार होगा यह वाकई चिंतनीय है। उक्त बातें सर सैयद मेमोरेटरी फाउंडेशन आॅफ इंडिया के केंद्रीय अध्यक्ष परवेज सिद्दीकी ने शनिवार को दुर्गी के मदरसा के निरीक्षण के दौरान कही।

परवेज शनिवार को यहां मदरसा अहले सुन्नत नूरूल इस्लाम अंसाराबाद दुर्गी की व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे। जहां उन्होंने मदरसे के बच्चों से सुविधाओं के बावत जानकारी ली। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत के क्रम में बताया कि मदरसे तक सरकारी फंड सही रूप से नहीं पहुंच रहा है। समुदाय के मासूम बच्चों के साथ सौतेला व्यवहार हो रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से बात कर उन्हें वस्तुस्थिति से अवगत कराया गया है। जिसपर राज्यपाल ने भी चिंता जताते हुए पहल करने का भरोसा दिलाया है। परवेज ने कहा कि देश में अल्पसंख्यकों को उनका हक नहीं मिल रहा है। अल्पसंख्यक के नाम पर झारखंड में राजनीति करनेवाले नेता भी मौका परस्त और स्वार्थी हो गये हैं। समुदाय की उन्हें कोई फिक्र नहीं है। निरीक्षण करनेवालों में मो. इकबाल अहमद, मौलाना सद्दाम हुसैन, मौलाना इकबाल अहमद, मो. इशान, कारी यूसुफ रजा, कारी आरिफ रजा, हाजी अब्दुल रसीद, मो. मतीन रजा, मो. मोहसीन रजा, मो. आवेश, मो. मोकीम सहित कई शामिल थे।