Hindi News »Jharkhand »Barkakana» 18 वर्ष से कम के बच्चों को शारीरिक प्रताड़ना देना कानूनन अपराध : शेखर

18 वर्ष से कम के बच्चों को शारीरिक प्रताड़ना देना कानूनन अपराध : शेखर

जिला विधिक सेवा प्राधिकार रामगढ़ व डीएवी विद्यालय बरकाकाना के संयुक्त तत्वाधान में रविवार को रिवर व्यू क्लब में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 02, 2018, 02:00 AM IST

18 वर्ष से कम के बच्चों को शारीरिक प्रताड़ना देना कानूनन अपराध : शेखर
जिला विधिक सेवा प्राधिकार रामगढ़ व डीएवी विद्यालय बरकाकाना के संयुक्त तत्वाधान में रविवार को रिवर व्यू क्लब में बच्चों के लिए कानूनी जागरूकता कैंप का आयोजन किया गया। डीएवी झारखंड जोन डी की निदेशक डाॅ उर्मिला सिंह ने अतिथियों को बुके देकर स्वागत किया गया। जिसके बाद जिला विधिक सेवा प्राधिकार केन्द्र के सचिव सह सब-जज शेखर कुमार ने बच्चों को कानून की विभिन्न धाराओं के साथ पोस्को एक्ट के संबंध में जानकारी दी गयी। उन्होंने कहा कि 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का शारीरिक प्रताड़ना देना जघन्य अपराध की श्रेणी में आता है। नाबालिग के शरीर के संवेदनशील अंगों को गलत नियत से छूने, शारीरिक संबंध बनाने पर तीन साल से उम्र कैद तक की सजा इसके अलावे 12 साल से कम उम्र के बच्चों का शारीरिक शोषण करने पर फांसी तक की सजा का प्रावधान है, साथ ही शारीरिक शोषण के बाद डराने-धमकाने के लिए भी दंड का प्रावधान है। उन्होंने बच्चों के साथ हुये शारीरिक शोषण की जानकारी तत्काल स्थानीय पुलिस प्रशासन को देने व सुनवाई नहीं होने पर रामगढ़ जिला विधिक सेवा प्राधिकार केन्द्र को देने की बात कही। उन्होंने कहा कि जिला विधिक सेवा प्राधिकार केन्द्र गरीब, दिव्यांग, असहायों को नि:शुल्क कानूनी सहायता प्रदान करती है।

जानकारी देते सब जज।

बच्चों को रुपए के लेन-देन की विधि बताई

फाइनेंशियल लिट्रेसी प्रोग्राम के तहत डीएवी स्कूल बरकाकाना में कार्यक्रम

बरकाकाना | डीएवी बरकाकाना में रविवार को फाइनेंशियल लिट्रेसी प्रोग्राम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में झारखंड डी जोन के कुल 14 स्कूलों के सैकड़ों शिक्षक व शिक्षिकाओं ने भाग लिया। विद्यालय की प्राचार्य सह झारखंड डी जोन निदेशक डाॅ उर्मिला सिंह व फाइनेंशियल एडवाइजर प्रदीप जैन द्वारा संयुक्त रूप से दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की गयी। इस दौरान पैसों के निवेश करने को ले चर्चा की गयी। निदेशक डाॅ सिंह ने कहा कि बिना जानकारी के निवेश करने से नुकसान होने की आशंका होती है। निवेश करने से पूर्व विशेषज्ञों की राय अवश्य लेनी चाहिए। उन्होंने शिक्षकों से बच्चों को खेल-खेल में पैसों के लेन-देन व बचत करने की जानकारी देने की बात कही।

उसके मोल व बचत करने के तरीके के बारे में जानकारी देने की बात कही। श्री जैन ने एफडी, गोल्ड निवेश, सेंसेक्स, बीमा, एसआइपी, म्यूचुअल फंड, पीपीएफ, ईपीएफ आदि में निवेश करने के तरीके, उनसे होने वाले मुनाफे के बारे में विस्तार पूर्वक बताया।

मौके पर डीएवी घाटो की प्राचार्य किरण यादव, तापिन प्राचार्य रानी जायसवाल, केदला प्राचार्य एनपी यादव, आरा प्राचार्य आरके राॅय, भरेचनगर प्राचार्य एमके मिश्रा, पतरातू प्राचार्य एसआर प्रसाद, उरीमारी प्राचार्य यूके राॅय आदि उपस्थित थे।

दीप जलाकर कार्यक्रम का शुरूआत करते अतिथि।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Barkakana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×