--Advertisement--

हेलमेट पहनने वाले को फूल देकर किया सम्मानित

राज्य सरकार के निर्देशानुसार 24 से 30 अप्रैल मनाए जाने वाले 29वें सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत यातायात के नियमों के प्रति...

Danik Bhaskar | Apr 27, 2018, 02:00 AM IST
राज्य सरकार के निर्देशानुसार 24 से 30 अप्रैल मनाए जाने वाले 29वें सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत यातायात के नियमों के प्रति वाहन चालकों को जागरूक करने और बढ़ते सड़क हादसों पर अंकुश लगाने के मकसद से गढ़वा डीटीओ लक्ष्मीनारायण एवं स्थानीय थाना के सअनि रामवृक्ष राम के नेतृत्व में गुरुवार को थाना मोड़ के समीप नुक्कड़ नाटक का आयोजित कर चलंत स्क्रीन सेट दिखा कर वाहन चालकों के बीच जागरूकता अभियान चलाया गया। इस दौरान सअनि रामबृक्ष राम ने यातायात नियमों के पालन करने वालों तथा हेलमेट पहने बाइक चालकों को गुलाब के फूल और पेन देकर उन्हें सम्मानित किया। साथ ही बिना हेलमेट पहने तथा बिना सीट बेल्ट बांधे वाहन चला रहे लोगों को आगे से ट्रैफिक नियम के पालन करते हुए वाहन चलाने का निर्देश दिया।

नुक्कड़ नाटक मंडली द्वारा गीत संगीत एवं नाटक मंचन के द्वारा यातायात से संबंधित जागरूकता वाहन चालकों के बीच चलाया। इस मौके पर डीटीओ लक्ष्मीनारायण ने मुख्य मार्ग से आने जाने वाले दो पहिया, तीन पहिया समेत छोटे बड़े वाहन चालकों को रुकवा कर उन्हें स्क्रीन सेट पर यातायात सुरक्षा से जुड़ी डॉक्यूमेंट्री फिल्में भी दिखाई और साथ उन्हें ट्रैफिक नियमों का पालन करने हेतु जानकारी दी। उन्होंने लोगों को जागरूक करने के साथ यह भी बताया कि पहले वाहन चालकों से ट्रैफिक के नियमों का पालन करने की अपील की जाएगी। लेकिन लगातार यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ सख्ती भी बरती जाएगी। डीटीओ ने कहा कि अगर हम दिल्ली मुंबई जैसे महानगरों की तरह सख्ती से स्वयं नियमों का पालन करें तो दुर्घटना होने के चांस 80 प्रतिशत तक कम हो जाएंगे। दो पहिया वाहनों पर हैलमेट पहन कर यात्रा करने के अलावा चार पहिया वाहनों को ओवरटेक करते समय अपनी वाहन की स्पीड के साथ दाएं बाएं और पीछे का भी ख्याल रखना चाहिए। इस मौके पर सड़क सुरक्षा पदाधिकारी ओम शंकर, बीस सूत्री अध्यक्ष ब्रजेश सिंह, भवनाथपुर पंसस चंदन ठाकुर नुक्कड़ नाटक मंडली के हसरत अली खां, कामेश्वर महतो, बीरेंद्र साव, शिवपूजन मेहता ब्यास, सुरेश, भागवती जी समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

फूल देते पदाधिकारी।