• Home
  • Jharkhand News
  • Bhawnathpur
  • जनसेवकों ने काला बिला लगाकर बीडीओ को 12 सूत्री मांग पत्र सौंपा
--Advertisement--

जनसेवकों ने काला बिला लगाकर बीडीओ को 12 सूत्री मांग पत्र सौंपा

झारखंड राज्य जनसेवक संघ के आह्वान पर भवनाथपुर प्रखंड मुख्यालय के जनसेवकों ने बीडीओ विशाल कुमार को सरकार के नाम...

Danik Bhaskar | May 31, 2018, 02:05 AM IST
झारखंड राज्य जनसेवक संघ के आह्वान पर भवनाथपुर प्रखंड मुख्यालय के जनसेवकों ने बीडीओ विशाल कुमार को सरकार के नाम अपनी 12 सूत्री मांग पत्र सौंपा। मौके पर जनसेवकों ने बताया कि मांग पत्र के माध्यम से सरकार को ध्यान आकृष्ट करना है, और जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे जनसेवकों के साथ सौतेला एवं अन्यायपूर्ण व्यवहार के विरोध में 29 मई से लेकर 4 जून तक राज्य के सभी जनसेवक काला पट्टी लगाकर कार्य करते हुए सरकार के प्रति अपना विरोध जताएंगे।

जनसेवकों ने यह भी कहा कि सरकार हमारी मांगों पर ठोस कार्रवाई नहीं करती है, तो 15 जून के बाद राज्य के सभी जनसेवक आंदोलन की रास्ता अख्तियार करते हुए अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। उनकी मांग पत्र में 2012 में बहाल हुए प्रशिक्षण प्राप्त जनसेवकों को छह माह का प्रशिक्षण प्रमाण पत्र उपलब्ध कराई जाए, जनसेवकों की वरीयता सूची बनाई जाए, जनसेवकों की पद को तकनीकी पद मानते हुए ग्रेड पे 4200 रु की जाए, जनसेवकों का पदनाम कृषि प्रसार पर्यवेक्षक करें, जनसेवकों का डीडीओ परिवर्तित करते हुए डीएओ-एसडीएओ को बनाया जाए, गैर कृषि कार्य करते हुए जिन जनसेवकों पर दंडात्मक कार्रवाई हुई है, उन्हें अविलंब दंड मुक्त किया जाए समेत 12 मांग शामिल है। मांग पत्र देने वालो में कोषाध्यक्ष चंद्रकिशोर कुमार, नीरज सिंह, एरियल कच्छप, दिलीप बैठा, राकेश कुमार बैठा शामिल है।

बीडीओ काे मांग पत्र सौंपते जनसेवक।

रमना में भी जनसेवकों ने मांग पत्र सौंपा

रमना | झारखंड प्रदेश जनसेवक संघ के निर्देश पर बुधवार को बारह सूत्री मांग पत्र के समर्थन मे प्रखंड में कार्यरत सभी जनसेवकों ने काला बिला लगाकर सांकेतिक विरोध करते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी दयानंद कारजी को बारह सूत्री मांग पत्र राजपाल के नाम सौंपा। मांग पत्र में जनसेवकों की वरीयता सूची तैयार करने, जनसेवक का पदनाम कृषि प्रसार पर्यवेक्षक करने, सीमित परीक्षा में शामिल कराने एवं प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर जनसेवको के साथ मारपीट के घटना में शामिल सभी लोगों की अविलंब गिरफ्तारी करने सहित कई मांग शामिल हैं। सांकेतिक विरोध व मांग पत्र सौंपने वालों मे जनसेवक राजेश चौबे, कुनाल गौरव एवं सुनीता कुमारी आदी शामिल हैं।