• Home
  • Jharkhand News
  • Bhawnathpur
  • बांकी नदी किनारे 5 किलोमीटर तक लगाए जाएंगे 30 हजार फलदार पौधे
--Advertisement--

बांकी नदी किनारे 5 किलोमीटर तक लगाए जाएंगे 30 हजार फलदार पौधे

नदी महोत्सव-सह वृहद पौधरोपण कार्यक्रम के तहत जिले के रमना प्रखंड के बहियार गांव स्थित बांकी नदी किनारे 2 जुलाई को 5...

Danik Bhaskar | Jul 01, 2018, 02:05 AM IST
नदी महोत्सव-सह वृहद पौधरोपण कार्यक्रम के तहत जिले के रमना प्रखंड के बहियार गांव स्थित बांकी नदी किनारे 2 जुलाई को 5 किलोमीटर में 30 हजार पौधा लगाया जाएगा। इस संबंध में उत्तरी वन प्रमंडल गढ़वा के वन प्रमंडल पदाधिकारी अशोक कुमार दूबे ने कहा कि नदी महोत्सव सह वृहद पौधारोपण अभियान की शुरूआत 2 जुलाई को मुख्यमंत्री द्वारा किया जाएगा। इस तिथि को एक साथ राज्य के 24 जिले के 24 नदियों के किनारे 140 किलोमीटर में 9 लाख पौधे लगाए जाएंगे।

इस अवसर पर रमना प्रखंड के आस-पास के सभी विद्यालयों, ग्राम वन प्रबंधन एवं संरक्षण समिति, बहियार एवं सिरियाटोंगर के सदस्यगणों की सहभागिता से इस कार्यक्रम को संपन्न कराने के लिए निर्णय लिया गया है। इस कार्यक्रम का नेतृत्व जिले के प्रतिनिधियों के द्वारा किया जाएगा। मुख्य अतिथि के रूप में सांसद वीडी राम, विशिष्ट अतिथि गढ़वा विधायक सत्येंद्रनाथ तिवारी व भवनाथपुर विधायक भानु प्रताप शाही होंगे। साथ ही जिले के न्यायिक अधिकारियों के अलावा प्रशासनिक अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। उन्होंने कहा कि गढ़वा में नदी महोत्सव का यह पहला आयोजन है। इस अवसर पर बांकी नदी के तट पर 30 हजार पौधा लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इससे तट रोपण की सफलता से नदी के तटबंधों के कटाव पर अंकुश लगेगा। पर्यावरण में बेहतरीन संतुलन कायम होगा। इस तरह के नदी महोत्सव-सह-वृहद पौधरोपण कार्यक्रम के जारी रहने से नदियों में तथा नदी के किनारे बसे लोगों के जीवन में पानी का अभाव नहीं होगा। साथ ही धरती पर जीवन के लिए निरंतरता रखने के लिए इस तरह के आयोजन जरूरी है। आने वाले पीढ़ियों को जोड़ना आवश्यक है। अभियान में सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर सभी को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि नदियों के किनारे लगातार पौधरोपण किया जाए तो जल की कमी की समस्या का निदान होगा, गांव की कृषि व्यवस्था और कृषकों की आय में आशातीत सुधार होगा। रोजी रोजगार के कई नए धंधे सामने आएंगे।

रमना प्रखंड के बहियार गांव में नदी महोत्सव-सह वृहद पौधरोपण कल से