Hindi News »Jharkhand »Bhawnathpur» जनरेटर रहने के बाद भी अंधेरे में किया जाता है इलाज

जनरेटर रहने के बाद भी अंधेरे में किया जाता है इलाज

भवनाथपुर | स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों का इलाज अंधेरे में किया जाता है। जबकि अस्पताल में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 05, 2018, 02:05 AM IST

जनरेटर रहने के बाद भी अंधेरे में किया जाता है इलाज
भवनाथपुर | स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों का इलाज अंधेरे में किया जाता है। जबकि अस्पताल में जेनरेटर की व्यवस्था है। लेकिन अस्पताल प्रबंधन की मनमानी के चलते उसका लाभ मरीजों को नहीं मिल पा रहा है। मंगलवार की रात आठ बजे सिंदुरिया निवासी बसंत राम अपनी प|ी सरिता देवी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। तब अस्पताल में अंधेरा पसरा हुआ था। सूचना पर पहुंचे आयुष चिकित्सक नीतीश भारती ने मोबाइल की रोशनी के सहारे मरीज को वार्ड में भर्ती कराया। मरीज के पति द्वारा पूछा गया कि अस्पताल में रोशनी की व्यवस्था क्यों नहीं है, इस पर गार्ड ने कहा की लाइट का ठेका लिए हैं क्या। यहां यही व्यवस्था है फिर बाद में डॉक्टर भारती ने प्रसव कक्ष की वार्डन से कुछ समय के लिए लाइट की व्यवस्था करवाई। इस संबंध में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर नीतीश भारती ने बताया कि अस्पताल के प्रभारी कहां गए हैं हमें पता नहीं। उन्होंने कहा कि जनरेटर नहीं चल रहा है, अस्पताल की व्यवस्था देखना प्रभारी का काम है, हमारा कोई रोल नहीं है।

महिला मरीज।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhawnathpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×