• Hindi News
  • Jharkhand
  • Bhawnathpur
  • जिले में 74 हजार 218 लाेगों की रक्त जांच में 3074 लोगों में मलेरिया के लक्षण पाए गए
--Advertisement--

जिले में 74 हजार 218 लाेगों की रक्त जांच में 3074 लोगों में मलेरिया के लक्षण पाए गए

बरसात शुरू होने के साथ ही जिले में मलेरिया का प्रकोप बढ़ने लगा है। इस बीमारी से बचने के लिए जिला मलेरिया कार्यालय के...

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 02:05 AM IST
जिले में 74 हजार 218 लाेगों की रक्त जांच में 3074 लोगों में मलेरिया के लक्षण पाए गए
बरसात शुरू होने के साथ ही जिले में मलेरिया का प्रकोप बढ़ने लगा है। इस बीमारी से बचने के लिए जिला मलेरिया कार्यालय के पदाधिकारी के द्वारा सभी स्वास्थ्य केंद्रों को विशेष सतर्कता का निर्देश दिए गए हैं। हालांकि हर प्रकार के मरीज अस्पताल में पहुंच रहे हैं। लेकिन पहले उन्हें संभावित मलेरिया का मरीज मान कर इलाज की शुरूआत की जा रही है। विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों से जून महीने तक बुखार से पीड़ित 74 हजार 218 लोगों की रक्त नमूने को लेकर जांच की गई। जिसमें 3074 रोगियों में मलेरिया का लक्षण पाए गए। सर्वाधिक 847 मलेरिया मरीजों की संख्या नगरउंटारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पोषक क्षेत्रों में पाई गई। यहां 13991 बुखार से पीड़ित मरीजों के रक्त जांच की गई थी।

गढ़वा सदर अस्पताल के ओपीडी में 5169 लोगों के रक्त जांच की गई। जिसमें 388 लोगों में मलेरिया रोग पाया गया। जबकि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गढ़वा से 5918 लोगों के रक्त नमूने को जांच की गई। जिसमें 95 लोगों में मलेरिया के लक्षण मिला। वहीं मेराल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 8645 लोगों के रक्त नमूने की जांच की गई। जिसमें 101 मरीज मलेरिया से पीड़ित पाए गए। वहीं धुरकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की ओर से 6197 मरीजों के रक्त नमूने की जांच की गई। जिसमें 81 मरीज मलेरिया से पीड़ित पाए गए। उन्हें मलेरियारोधी दवा उपलब्ध कराई गई है। मझिआंव में 9870बुखार से पीड़ित मरीजों के रक्त नमूने की जांच की गई। जिसमें 398 लोगों में मलेरिया के लक्षण पाए गए। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रंका में 9555 लोगों के रक्त नमूने की जांच में 394 लोग मलेरिया से पीड़ित पाए गए। वहीं भंडरिया रेफरल अस्पताल से 6500 बुखार से पीड़ित मरीजों के रक्त नमूने की जांच में 172 लोग मलेरिया से ग्रसित पाए गए। इसके अलावे भवनाथपुर स्वास्थ्य केंद्र में 14570लोगों की रक्त जांच की गई। जिसमें 571 लोगों में मलेरिया पाया गया।

स्वास्थ्य केंद्रों को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश

मलेरिया विभाग कार्यालय की तस्वीर।

मलेरिया से बचाव के उपाय बताए गए

इस संबंध में गढ़वा जिला मलेरिया विभाग के अरविंद कुमार ने कहा कि मलेरिया से बचाव को लेकर मेडिकेटेड मच्छरदानी का वितरण किया जा चुका है। वहीं चयनित गांवों में डीडीटी का छिड़काव का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह से अधिक जमा पानी में एक चम्मच केरोसिन तेल डालें। ताकि जमा पानी में मलेरिया के जीवाणु पनप नहीं सके। मलेरिया से बचने के लिए मच्छरदानी का प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि मलेरिया व डेंगू के मच्छर साफ पानी में भी पैदा लेते हैं। इसलिए अपने घरों के कूलर, गमला आदि से जमा पानी को निकाल दें। आसपास पानी का जमाव नहीं दें। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति मलेरिया रोग से पीड़ित होता है। वह तुरंत अपने नजदीक के स्वास्थ्य केंद्रों में इसकी नि:शुल्क जांच कराए। जांच के बाद चिकित्सक के सलाह के बाद दवा का उपयोग करें।

तीन लाख 85 हजार मेडिकेटेड मच्छरदानी बांटे गए

मलेरिया से बचाव को लेकर गढ़वा जिले में तीन लाख 85 हजार मेडिकेटेड मच्छरदानी का वितरण विभाग के द्वारा किया गया है। वहीं जिले के चयनित गांवों में डीडीटी का छिड़काव किया जा रहा है। इसके अलावे मलेरिया उन्मूलन को लेकर ग्राम गोष्ठी, विद्यालय जागरूकता अभियान आदि चलाया गया है।

अरविंद कुमार।

डॉ यासीन अंसारी।

मलेरिया से 10 वर्षीय बालक की माैत

सगमा |
प्रखंड मुख्यालय स्थित सगमा निवासी संजय यादव के 10 वर्षीय पुत्र दीपक कुमार यादव की मौत गुरुवार को तेज बुखार चढ़ने के कारण हो गई। जानकारी अनुसार दीपक पिछले एक सप्ताह से मलेरिया बुखार से ग्रसित था। परिजन दीपक का इलाज गांव के ही निजी क्लिनिक में करा रहे थे। जो बुधवार को अचानक तेज बुखार चढ़ने के कारण दीपक का स्थिति गंभीर हो गई। परिजनों ने आनन-फानन में रेफरल अस्पताल नगर उंटारी में भर्ती कराया, जहां उनकी मौत हो गई। दीपक राजकीय मध्य विद्यालय सगमा के कक्षा चार के छात्र था। जिसके कारण विद्यालय के छात्र-छात्राओं व शिक्षकों ने विद्यालय में शोक सभा कर विद्यालय में छुट्टी कर दी गई। शोक सभा में शिक्षक धर्मेंद्र कुमार, सुनील कुमार, अविमोचन यादव, ललु यादव, हरिदास यादव, शीला देवी, उषा देवी, प्रेमलता देवी, मधु यादव आदि छात्र छात्र छात्राएं व शिक्षक उपस्थित थे

X
जिले में 74 हजार 218 लाेगों की रक्त जांच में 3074 लोगों में मलेरिया के लक्षण पाए गए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..