• Home
  • Jharkhand News
  • Bhawnathpur
  • इंदिरा आवास बनाए बगैर कर ली गई लाखों रुपए की निकासी
--Advertisement--

इंदिरा आवास बनाए बगैर कर ली गई लाखों रुपए की निकासी

भवनाथपुर प्रखंड के सिंदुरिया पंचायत में स्थानीय मुखिया, पंचायत सेवक एवं पदाधिकारी की मिलीभगत से इन्दिरा आवास...

Danik Bhaskar | May 13, 2018, 02:05 AM IST
भवनाथपुर प्रखंड के सिंदुरिया पंचायत में स्थानीय मुखिया, पंचायत सेवक एवं पदाधिकारी की मिलीभगत से इन्दिरा आवास बनाए बगैर लाखों रुपए गबन करने का मामला प्रकाश में आया है। बीते सत्र 10-11 से 14-15 के बीच मे व्यापक पैमाने पर सिर्फ कागज पर ही सरकारी आवास बनाकर सरकारी राशि का बंदरबांट किया गया। जिसकी पुष्टि मुख्यमंत्री जनसंवाद मे शिकायत के बाद प्रखंड कर्मियों द्वारा जांचोपरांत हुई।

विभागीय सूत्रों के अनुसार वर्ष 10-11 से लेकर 14-15 तक में इंदिरा आवास में बिना आवास बनाए ही राशि हड़प लिए जाने की शिकायत करने पर विभागीय जांच में आरोप सही पाए गए। सूत्रों की माने तो वित्तीय सत्र 2010-11 में हेमंती देवी पति अयोध्या राम, बधाई खरवार पिता हरि खरवार, फूलन देवी पति जीतन सिंह, संगीता देवी पति श्यामलाल पासवान वित्तीय सत्र 2011-12 शिव कुमार उरांव पिता रामनंदन उरांव, जवाहर राम पिता जगन दुसाध, सत्र 2012 13 में फुलमतिया देवी पति स्व दुखी भुईंया, कबूतरी देवी पति मरती भुईंया, मुन्नी देवी पति बैजनाथ राम, सत्र 2013 -14 में शांति देवी पति राम नारायण भुईंया ,शिव देवी पति मुन्ना उरांव, मनमती कुंवर पति स्व श्यामलाल उरांव, बिमला कुंवर पति स्व मोहन उरांव, सोनिया देवी पति सोहर उरांव, ललती देवी पति सूबा भुईंया, अनारवा देवी पति गोविंद भुईंया, सत्र 2014-15 में लालो देवी पति सुदामा राम, सुशील देवी पति विनय उरांव, ललित देवी पति ददुली साह, सत्र 2015-16 में प्रमिला देवी पति राजेश्वर भुईंया, आशा देवी शिवप्रसाद कोरवा, रुक्मणी देवी पति रामनाथ कोरवा आदि को इंदिरा आवास आवंटित हुआ था। उक्त सभी लाभुकों को प्रथम किस्त कि राशि मिली थी। लेकिन एक भी लाभुकों ने आवास हनी बनाया और तत्कालीन मुखिया, पंचायत सेवक बीडीओ की मिलीभगत से बिना आवास बनाए कागजों पर ही पूर्ण दिखाकर लाभुकों को राशि देकर आपस मे बंदरबांट कर लिया।

बीडीओ विशाल कुमार ने कहा इस मामले मे जांच चल रहा है। कुछ आवास फर्जी पाये गये है। जांच प्रतिवेदन वरीय अधिकारी को सौंपा जाएगा।