• Hindi News
  • Jharkhand
  • Bhawnathpur
  • विद्यार्थी 18 घंटे तक अभिभावक के संरक्षण में ही संस्कार सीखते हैं
--Advertisement--

विद्यार्थी 18 घंटे तक अभिभावक के संरक्षण में ही संस्कार सीखते हैं

प्रोजेक्ट गर्ल हाई स्कूल के छात्राओं के अभिभावकों के सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में प्राचार्य सरोज सिंह...

Dainik Bhaskar

Jun 26, 2018, 01:50 PM IST
विद्यार्थी 18 घंटे तक अभिभावक के संरक्षण में ही संस्कार सीखते हैं
प्रोजेक्ट गर्ल हाई स्कूल के छात्राओं के अभिभावकों के सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में प्राचार्य सरोज सिंह ने अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि छात्राएं मात्र छह घंटे ही विद्यालय में रहतीं हैं, जबकि 18 घंटे अपने अभिभावकों के संरक्षण में रहकर उनसे संस्कार ग्रहण करतीं हैं।

कहा कि अभिभावक अपनी बच्चियों को सही समय पर प्रतिदिन विद्यालय भेजे और उनकी पढ़ाई पर ध्यान दें। विद्यालय अवधी में बच्चियों को घर न बुलाएं तथा विशेष परिस्थिति में विद्यालय पहुंचकर स्वयं अपने साथ बच्चियों को घर ले जाएं। उन्होंने सरकार द्वारा पुस्तक, पोशाक एवं अन्य प्रकार के मिलने वाली पाठ्य संबंधी सुविधाओं के बारे में विस्तार से बताया। विद्यालय के संस्थापक एवं प्रबंधकारिणी सदस्य सीताराम पाठक ने अभिभावकों से अनुरोध किया कि अपनी बच्चियों को नियमित समय पर सुबह शाम बैठकर पढ़ने के लिए उन्हें प्रेरित करें।

साथ ही पढ़ाई से संबंधित परेशानियों को उनसे पूछकर उसका निदान करने की पहल करें। उन्होंने नारी शिक्षा पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला। इस मौके पर शिक्षक अजय सिंह, शिक्षिका कुसुम सिंह, संध्या पांडेय, पूजा कुमारी मौजूद थीं।

X
विद्यार्थी 18 घंटे तक अभिभावक के संरक्षण में ही संस्कार सीखते हैं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..