--Advertisement--

पड़हा समिति ने मनाया 17वां कुडू़म लिपि दिवस

कुड़माली लिपि भाखी चारि पड़हा समिति, बोकारो के तत्वावधान में चास प्रखंड के बिजुलिया मोड़ के पास विनोद बिहारी महतो...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:05 AM IST
पड़हा समिति ने मनाया 17वां कुडू़म लिपि दिवस
कुड़माली लिपि भाखी चारि पड़हा समिति, बोकारो के तत्वावधान में चास प्रखंड के बिजुलिया मोड़ के पास विनोद बिहारी महतो हटिया मैदान में 17वां कुड़ूम लिपि दिवस मनाया गया। इस अवसर पर कुड़ूम लिपि के आविष्कारक जाहरे कवि डॉ. मुरलीधर महतो ने बताया कि कुड़ूम लिपि का प्रथम प्रकाशन 2001 में हुआ था। कुड़ूम लिपि ही कुड़माली भाषा की अलग पहचान का एकमात्र आधार है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि बेलुंजा पंचायत के मुखिया सुधांशु रजवार ने कहा कि कुड़ूम लिपि झारखंड का गौरव है। विशिष्ट अतिथि झारखंड सांस्कृतिक क्लब के अध्यक्ष बीपी महतो ने कहा कि कि कुड़ूम लिपि कुड़माली भाषा के विकास एवं पहचान का आधार है। इस अवसर पर प्रो. मंटू प्रसाद महतो, प्रो. सुशील कुमार महतो, रामविलास महतो, श्वेता कुमारी, रीना देवी आदि उपस्थित थे।

X
पड़हा समिति ने मनाया 17वां कुडू़म लिपि दिवस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..