• Hindi News
  • Jharkhand
  • Bokaro
  • तुपकाडीह बोकारो लाइन में रेलवे क्रॉसिंग बंद किया, कई गांव के लोगों की परेशानी बढ़ गई
--Advertisement--

तुपकाडीह-बोकारो लाइन में रेलवे क्रॉसिंग बंद किया, कई गांव के लोगों की परेशानी बढ़ गई

Bokaro News - सुभाष चंद्र ठाकुर

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:05 AM IST
तुपकाडीह-बोकारो लाइन में रेलवे क्रॉसिंग बंद किया, कई गांव के लोगों की परेशानी बढ़ गई
सुभाष चंद्र ठाकुर
तुपकाडीह से बोकारो जाने के लिए जेपी सीमेंट प्लांट की ओर से बने कच्चा मार्ग से गुजरने के दौरान बोकारो व तुपकाडीह रेलवे स्टेशन के बीच बनाए गए रेलवे फाटक को विभाग ने बंद कर दिया है। (यह एम केबिन गोमो-रांची मेन रेल लाइन के तुपकाडीह के दक्षिणी छोर पर है।) इससे स्थानीय लोगों को रेलवे फाटक से कुछ दूरी उत्तर दिशा पर स्थित रेलवे पटरी के नीचे बनाए गए सूखे नाले से गुजरना पड़ता है। यह नाला गर्मी के मौसम में पानी विहीन रहता है। जबकि बरसात में इसमें पानी बहता है। लोगों का आरोप है कि रेलवे ने तुपकाडीह, भुटकुरु, अड्‌डा क्वायरी, गोड़ाबालीडीह, तांतरी आदि स्थानों से बोकारो जाने वाले लोगों का रास्ता बंद कर दिया गया है। स्थानीय लोगों ने कहा कि यह सड़क चालू रहने से बोकारो की दूरी 36 किमी से घटकर मात्र 20 किमी रह जाती थी। लेकिन रास्ता बंद हो जाने से छोटे काम के लिए भी बाइक से भी बोकारो जाने के लिए जैनामोड़ होते हुए या नहर मार्ग से जाना पड़ता है। लगभग आठ माह पूर्व रेलवे ने तुपकाडीह स्टेशन से दक्षिण दि‌शा में बनाए गए रेलवे केबिन को भी बंद कर दिया है। इस कारण अड्‌डाक्वायरी के लोगों का रास्ता पूरी तरह से बंद हो गया है। यहां के लोग रेलवे लाइन के नीचे बने पुल से पार होकर या रेल पटरी पारकर आते जाते हैं।

लोग रेलवे लाइन के नीचे पानी निकासी वाले नाला गुजरते हैं

बंद किया गया रेल फाटक।

पूर्व विधायक ने बनवाया था पुल

इस सड़क को विकसित करने की दिशा में पूर्व विधायक समरेश सिंह ने पहल करते हुए पखरियाटांड़ गांव के पास एक पुल का निर्माण करवाया था। लेकिन सड़क नहीं बनवा सके। इस कारण लोग चेकडैम के बोल्डर से सड़क बनाकर आना जाना करते हैं। वर्तमान में डालमिया सीमेंट कंपनी के हेड मुकेश गर्ग ने आश्वासन दिया है कि पखरियाटांड़ गांव से तुपकाडीह रेलवे स्टेशन तक सड़क बनवा देंगे। इधर रेलवे ने फाटक ही बंद कर दिया। इससे स्थानीय लोगों में निराशा है।

इसी नाले से गुजरते हैं लोग।

रेल फाटक बंद होेने से ये गांव हुए प्रभावित

स्थानीय लोगों ने बताया कि रेल फाटक बंद होने से गोड़ाबालीडीह, अड्‌डाक्वायरी, बघलता मैदान, झोपड़ी कॉलोनी, तुपकाडीह, भुटकुरु, कुसुलमुंडू, तांतरी सहित आधा दर्जन से ज्यादा गांवों के लोग प्रभावित हो रहे हैं।

क्या कहते हैं स्टेशन मास्टर

दो माह पहले ही यहां एम केबिन का रेलवे फाटक बंद किया गया है। यह निर्णय वरीय अधिकारियों का है। इसके पीछे क्या कारण है इसकी जानकारी बोकारो या जोन से लेना पड़ेगा। हमलोग इसमें कुछ भी नहीं कह सकते हैं। वैसे इस केबिन से लोग गांवों में जाते थे, लेकिन रास्ते में बीएसएल का प्लांट बन जाने से उसने बाउंड्री दे दिया है। इसलिए केबिन की महत्ता नहीं रह गई थी। 

संतोष कुमार, स्टेशन मास्टर, एम केबिन बोकारो।

X
तुपकाडीह-बोकारो लाइन में रेलवे क्रॉसिंग बंद किया, कई गांव के लोगों की परेशानी बढ़ गई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..