• Hindi News
  • Jharkhand
  • Bokaro
  • जिला प्रशासन के सामने है बड़ी चुनौती 27 दिनों में बनाने हैं 36120 शौचालय
--Advertisement--

जिला प्रशासन के सामने है बड़ी चुनौती 27 दिनों में बनाने हैं 36120 शौचालय

Bokaro News - जिला प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती है। जिले के छह प्रखंडों के 92 पंचायतों को ओडीएफ करने के लिए प्रशासन को कड़ी मशक्कत...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:10 AM IST
जिला प्रशासन के सामने है बड़ी चुनौती 27 दिनों में बनाने हैं 36120 शौचालय
जिला प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती है। जिले के छह प्रखंडों के 92 पंचायतों को ओडीएफ करने के लिए प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। मार्च के अंत तक यहां के सभी पंचायतों को ओडीएफ करना है। इसके लिए मात्र 27 दिन शेष रह गए हैं। चार सप्ताह में 36120 शौचालयों का निर्माण करना है। उपायुक्त मृत्युंजय कुमार वर्णवाल ने इसके लिए अलग-अलग अधिकारियों को पंचायत वार गोद लेेने के लिए कहा है। डीसी ने तो यह प्रतिनियुक्ति 20 फरवरी को ही कर दी है, लेकिन अधिकतर पंचायतों में अधिकारी अभी तक नहीं पहुंचे हैं। जबकि डीसी ने पंचायत एडाप्टरों को अपने-अपने पंचायतों का भ्रमण कर वहां के मुखिया, वार्ड सदस्य, पंचायत सेवक, जल सहिया आदि से संपर्क स्थापित कर आपसी समन्वय के साथ शौचालय निर्माण के कार्य को गति प्रदान करते हुए पूरा करने को कहा है। ऐसे डीसी ने सभी अधिकारियों को पांच मार्च को शौचालय के लिए गड्ढा खोदाे अभियान चलाने को कहा है।

किस प्रखंड में कितना बनाना है शौचालय

जिले के नावाडीह में 2738, गोमिया में 6667, चंदनकियारी में 11031, चास में 8487, जरीडीह में 5405, चंद्रपुरा में 1792 शौचालय का निर्माण करना है।

प्रतिदिन बनाने होंगे 1337 शौचालय

छह प्रखंडों में दिए गए टारगेट को पूरा करने के लिए जिला प्रशासन को प्रतिदिन 1337 शौचालय का निर्माण करना है। तभी यह टारगेट पूरा हो सकेगा। उपायुक्त ने नावाडीह के 08, गोमिया के 15, चंदनकियारी के 27, चास के 27, जरीडीह के 10, चंद्रपुरा के 05 पंचायतों को ओडीएफ करने के लिए पंचायत एडॉप्टर को प्रतिनियुक्त किया है।

पंचायत एडाप्टरों का बना है व्हाट्स एप ग्रुप

शौचालय निर्माण को गति देने के लिए पंचायत एडाप्टरों का एक व्हाट्स एप ग्रुप बनाया गया है। साथ ही स्वच्छ भारत मिशन की जिला स्तर पर बेहतर माॅनीटरिंग करने के लिए 07 कोषांगों का गठन किया गया है। डीसी ने स्वच्छ भारत मिशन को सफल बनाने के लिए मेसन कोषांग, मैटेरियल कोषांग, वाहन कोषांग, वित्तीय कोषांग, जन जागरूकता कोषांग, मीडिया कोषांग एवं निगरानी कोषांग गठित करने को कहा है।

किस प्रखंड में किन पंचायतों को करना है ओडीएफ


बहुत बड़ी चुनौती है, मार्च तक पूरा हो जाएगा काम


X
जिला प्रशासन के सामने है बड़ी चुनौती 27 दिनों में बनाने हैं 36120 शौचालय
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..