Hindi News »Jharkhand »Bokaro» जलापूर्ति योजना के निर्माण में अनियमितता का आरोप, बारिश में बह गया था फिल्टर प्लांट

जलापूर्ति योजना के निर्माण में अनियमितता का आरोप, बारिश में बह गया था फिल्टर प्लांट

डीबी स्टार

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:15 AM IST

जलापूर्ति योजना के निर्माण में अनियमितता का आरोप, बारिश में बह गया था फिल्टर प्लांट
डीबी स्टार चंद्रपुरा

बोकारो जिला के चंद्रपुरा प्रखंड के राजाबेड़ा दामोदर नदी किनारे ग्रामीण पाइपलाइन जलापूर्ति योजना के तहत 9 करोड़ की लागत से बन रहे इंटेकवेल व फिल्टर प्लांट निर्माण में अनियमितता बरती जा रही है। जिप सदस्य नीतू सिंह का आरोप है कि इंटेकवेल व फिल्टर प्लांट निर्माण में गुणवत्ता को ताक पर रखा गया है। एक बार तो 2017 में बारिश में बन रहा फिल्टर प्लांट बह गया। उन्होंने कहा कि फिल्टर प्लांट की जमीन के फाउंडेशन में भारी अनियमितता बरती गई है। इसी तरह इंटेकवेल निर्माण में जो गिट्टी देनी चाहिए वह ना देकर मिक्स गिट्टी से ढलाई की जा रही है। साथ ही सीमेंट की मात्रा भी कम है। नीतू ने कहा कि इस पाइप लाइन जलापूर्ति योजना से जिस गांव से पाइप जा रही है उस गांव के लोग ही प्यासे रहेंगे। राजाबेड़ा गांव के लोगों को पानी नहीं मिला, तो आंदोलन किया जाएगा।

निर्माणाधिन इंटेकवेल ।

काम सही हो रहा है, समय पर पूरा होगा

काम में गुणवत्ता का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। कहीं कोई कोताही नहीं हो रही है। बाढ़ में हमारा कोई स्ट्रक्चर नहीं बहा था। फिर वहां गलत ढंग से काम करने की बात ही पैदा नहीं होती है। यहां काम भी तेजी से हो रहा है। समय पर काम पूरा कर लिया जाएगा। समय पर जनता को यहां से जलापूर्ति की जाएगी।  अक्षय लाल, सहायक अभियंता, पीएचईडी

पानी टंकी की क्षमता 4 लाख 40 हजार लीटर है

झिंझिरघुटू पहाड़ी में बन रहे पानी टंकी की क्षमता 4 लाख 40 हजार लीटर है। इस पानी टंकी से चंद्रपुरा पंचायत के अगल-बगल गांवों में घर-घर पानी सप्लाई करने की योजना है। राजाबेड़ा में इंटेकवेल बन रहा है। इसके करीब 100 मीटर की दूरी में फिल्टर प्लांट बन रहा है। हालांकि काम जिस तेजी से होनी चाहिए वह नहीं हो रही है। 6 मार्च 2017 को शिलान्यास किया गया था। शिलान्यास समारोह में कार्यपालक अभियंता ने कहा था कि 2 साल में योजना पूर्ण हो जाएगी। मगर एक साल बीत जाने के बाद भी आधा काम नहीं हो पाया है। काम जिस धीमी गति से चल रही है उससे लगता है तीन साल में भी पूरा नहीं संभव नहीं है।

फिल्टर प्लांट की बुनियाद। ।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bokaro

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×