• Home
  • Jharkhand News
  • Bokaro News
  • बीएसएल में सेवानिवृत्त कर्मचारियों को दी गई विदाई
--Advertisement--

बीएसएल में सेवानिवृत्त कर्मचारियों को दी गई विदाई

डीबी स्टार

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 03:30 AM IST
डीबी स्टार
बोकारो स्टील प्लांट से जनवरी माह में सेवानिवृत्त होने वाले कर्मियों के लिए 31 जनवरी को मानव संसाधन विकास केन्द्र के प्रेक्षागृह में एक विदाई समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह में महाप्रबंधक (विद्युत) एम भुजबल मुख्य अतिथि रहे।

समारोह के आरम्भ में सहायक महाप्रबंधक (कार्मिक-सेवाएं एवं अंतिम निपटारा प्रकोष्ठ) यूके पोरूआ ने सभी आगन्तुकों का स्वागत किया। उप प्रबंधक (कार्मिक-अंतिम निपटारा प्रकोष्ठ) डाॅ. नंदा प्रियदर्शिनी ने सेवा निवृत्त हो रहे कर्मियों को अंतिम निपटारा संबंधी जानकारी दी। डाॅ. प्रियदर्शिनी ने प्रत्येक सेवानिवृत्त हो रहे कर्मियों का बाॅयोडाटा भी प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि भुजबल ने सेवानिवृत्त हो रहे कर्मियों को उनके निष्ठापूर्ण सेवा के लिये बधाई देते हुए उनके सुखमय जीवन की कामना की। उन्होंने सेवानिवृत्त हो रहे कर्मियों को सेवा प्रमाण पत्र तथा उपहार भी भेंट किए। समारोह का संचालन डाॅ. प्रियदर्शिनी नेे किया। महाप्रबंधक व इससे ऊपर के स्तर के अधिकारियों के लिए सीईओ सम्मेलन कक्ष में अलग से आयोजित किए गए एक विदाई समारोह में महाप्रबंधक(पाॅवर फैसिलिटीज) सोमश कांजीलाल को विदाई दी गयी। इस अवसर पर सीईओ पीके सिंह और अन्य आला उफसर उपस्थित रहे।

सेवा प्रमाण पत्र देते सीईओ पवन कुमार सिंह।

हिन्दी प्रतियोगिता के विजेता पुरस्कृत

बोकारो | ओजी एवं सीबीआरस विभाग में 31 जनवरी को उप महाप्रबंधक (ओजी एवं सीबीआरस) आई विक्टर की अध्यक्षता में हिन्दी कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उप महाप्रबंधक (ओजी एवं सीबीआरस) एल राम, प्रबंधक (ओजी एवं सीबीआरस) भंवर सिंह, उप प्रबंधक (ओजी एवं सीबीआरस) राम कुमार, विभागीय हिन्दी अधिकारी यूबी एमं तिवारी, राजभाषा विभाग के प्रतिनिधि उप प्रबंधक सचिन्द्र कुमार बरियार समेत विभाग के अन्य अधिकारी व कर्मी उपस्थित रहे। आरम्भ में भंवर सिंह ने सभी आगंतुकों का स्वागत किया और तिवारी ने विभागीय प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि विक्टर ने कर्मियों को इस मौके पर राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार को गति देने के लिए सरल-सुबोध हिन्दी एवं दैनिक कार्योंं में हिन्दी के प्रयोग पर विशेष ध्यान देने का आहवान किया ताकि भारत सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्य की पूर्ति की जा सके। बरियार ने हिन्दी की महत्ता को रेखांकित करते हुए भारत सरकार की राजभाषा नीति, वार्षिक कार्यक्रम में निर्धारित लक्ष्यों एवं यूनिकोड प्रणाली के उपयोग की अनिवार्यता की जानकारी दी। इस अवसर पर हिन्दी ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया और विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।

ओजी एवं सीबीआरस विभाग में हिन्दी कार्यशाला।