• Home
  • Jharkhand News
  • Bokaro News
  • बच्चे को पकड़ने से मना किया तो पुलिस ने युवक की बेरहमी से की पिटाई, एसपी करवाएंगे जांच
--Advertisement--

बच्चे को पकड़ने से मना किया तो पुलिस ने युवक की बेरहमी से की पिटाई, एसपी करवाएंगे जांच

सिटी रिपोर्टर | बोकारो/कसमार शराब की छापेमारी के दौरान मामूली विवाद में कसमार पुलिस ने ग्रामीण युवक की घर से...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 02:55 AM IST
सिटी रिपोर्टर | बोकारो/कसमार

शराब की छापेमारी के दौरान मामूली विवाद में कसमार पुलिस ने ग्रामीण युवक की घर से उठाकर थाने में बेरहमी से पिटाई कर दी। एसपी कार्तिक एस. ने उसे बोकारो सदर अस्पताल में इलाज कराकर जांच कर दोषी पुलिस पदाधिकारी पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। फूलचंद महतो कीे कमर के नीचे दोनों पैर एवं दोनों बांह में काफी चोट है। फिलहाल सदर अस्पताल में डॉक्टर उसका इलाज कर रहे हैं। एसपी के निर्देश पर अब शुक्रवार को मेडिकल बोर्ड यह जांच करेगा कि फूलचंद की पिटाई हुई है या फिर चोट लगने से वह जख्मी हो गया है।

एसपी के निर्देश पर घायल फूलचंद का सदर अस्पताल में चल रहा इलाज

कसमार के टांग टोना तेलियाडीह निवासी 35 वर्षीय फूलचंद महतो ने बताया... 15 मई 2018 को वह अपने काम से लौट कर अपनी बाइक में पेट्रोल लेने ओरमो जा रहा था। गांव के बगल में स्थित क्रेशर के बगल के एक होटल में शराब की बरामदगी के लिए छापेमारी के बाद पुलिस एक नाबालिग बच्चे को पकड़ कर ले जा रही थी। उसने अपने दो दोस्तों गोविंद महतो और दिलीप महतो के साथ मिलकर पुलिस वाले से कहा कि बच्चे को क्यों ले जा रहे है। उसके बड़े भाई को पकड़ कर ले जाइए। इसको लेकर पुलिस पदाधिकारी मनोज झा गाली गलौज करने लगे। फिर वह वरीय पदाधिकारी से शिकायत करने की बात कहकर पेट्रोल लेने चला गया। दूसरे दिन जब गांव के कुछ लोग थाने गए तो मनोज झा ने उसके बारे में उन लोगों से पूछा कि कौन है उसे कल थाने भेज देना। जब उसे इसकी जानकारी मिली तो उसने अपने कंपनी के मालिक श्यामल झा को जानकारी दी। उन्होंने थाना प्रभारी से बात कर कहा कि कल 10 बजे थाना चलेंगे। इसी बीच बुधवार की रात करीब साढ़े नौ बजे मनोज झा और कुछ पुलिस कर्मी उसके घर आए और उसे उठाकर थाना ले गए। वहां रात 11 बजे से मनोज झा और तीन पुलिस कर्मी उसे बेरहमी से डंडे से पीटने लगे जिससे वह बेहोश हो गया। होश आने पर उन लोगो ने पुन: उसकी पिटाई की। जब वह दर्द से तड़पने लगा तो सुबह करीब 4 बजे डाॅक्टर को बुलाकर उसे इंजेक्शन दिलवाया गया। जिससे वह सो गया। 17 मई की सुबह उसे चाय पिलाई गई और कहा कि किसी को मारपीट के बारे में नहीं कहना। सुबह जब उप मुखिया, पंचायत समिति सदस्य और कपिलेश्वर महतो के साथ उसकी प|ी थाने आई तो उन लोगों ने कागज पर साइन करवाकर उसे छोड़ा एवं कहा कि अगर किसी को बताया तो फिर थाना में पिटाई कर जेल भेज देंगे। इसकी जानकारी मिलने पर गांव के साथ-साथ अन्य गणमान्य लोग उसके घर पहुंच गए। पूरी जानकारी लेने के बाद पूर्व जिला परिषद सदस्य विमल जयसवाल, कसमार प्रखंड प्रमुख विजय किशोर गौतम, पंचायत समिति सदस्य जीवन जगरनाथ, बगदा पंचायत के मुखिया विष्णु चरण महतो, टांग टोना के उप मुखिया राम चंद्र महतो, श्यामल झा, गुड्डू महतो, अनन्त कुमार महतो आदि लेकर उसे पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचे। पुलिस अधीक्षक ने उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल में पहुंचाया।

सदर अस्पताल में इलाजरत फूलचंद महतो चोट दिखाते हुए।

लिखित शिकायत मिलने पर जांच कराकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई : एसपी

बोकारो के पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस. ने कहा कि शराब के छापेमारी के विरोध के क्रम में किसी युवक को चोट लगने की सूचना उन्हें मिली थी। वहीं पीड़ित कुछ लोगों के साथ आकर पुलिस पिटाई की बात कह रहा है। उन्होंने उनसे लिखित शिकायत की मांग की है। लिखित शिकायत मिलने पर मामले की जांच कराकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने बताया कि सदर अस्पताल में युवक का इलाज चल रहा है। जख्मी टांग टोना के तेलियाडीह निवासी फूलचंद महतो के दोनों जांघ और दोनों बांह में काफी चोट है। इसके कारण उसे बैठने एवं चलने में दिक्कत हो रही है।

मेडिकल बोर्ड में होगी जांच : डॉ. सोवान

सिविल सर्जन डॉ. सोवान मुर्मू ने कहा है कि फूलचंद महतो की शुक्रवार को मेडिकल बोर्ड गठित कर जांच करवाई जाएंगी। यह पता लग सके कि उसकी पिटाई किस तरह और किस चीज से की गई है। या फिर चोट लगने से वह जख्मी हुआ है।