बीएसएल की धमन भट्ठी में डस्ट निकालने के लिए नई प्रणाली की शुरुआत की गई

Bokaro News - धमन भट्ठी विभाग में आंतरिक संसाधनों से निर्मित एक्झॉस्टर एक्साइटेशन प्रणाली की शुरूअात हुई। इसका उद्घाटन...

Dec 04, 2019, 08:16 AM IST
Bokaro News - new system introduced to remove dust in bsl39s blast furnace
धमन भट्ठी विभाग में आंतरिक संसाधनों से निर्मित एक्झॉस्टर एक्साइटेशन प्रणाली की शुरूअात हुई। इसका उद्घाटन बीएसएल के कार्यकारी सीईओ आरसी श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर अधिशासी निदेशक (परिचालन) ए भौमिक सहित मुख्य महाप्रबंधक (धमन भट्ठी) अंजनी कुमार, मुख्य महाप्रबंधक (कोक ओवन) बीके तिवारी, मुख्य महाप्रबंधक (आरएमएचपी) संजय कुमार, मुख्य महाप्रबंधक (क्वालिटी) एस चौरसिया, मुख्य महाप्रबंधक (सिंटर प्लांट) एपी श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे।

धमन भट्ठी विभाग के चार्जिंग सेक्शन में डस्ट को निकालने अाैर वायु संचालन के लिए एक्झॉस्टर की व्यवस्था है। जिसे 1.6 मेगावाट क्षमता वाले सिंक्रोनस मोटर की सहायता से चलाया जाता है। इस मोटर के संचालन के लिए रोस्टर में 200 एम्पीयर डीसी करेंट दी जाती है। अभी तक डीसी करेंट के लिए पुराने रशियन एक्साइटेशन प्रणाली का प्रयोग होता रहा था। लगभग पचास वर्षों से लगातार उपयोग में रहने के कारण रशियन एक्साइटेशन प्रणाली की विश्वसनीयता कम हो रही थी तथा स्पेयर उपलब्ध नहीं रहने के कारण पुराने प्रणाली में आने वाली समस्याओं को दूर करना तथा एक्झॉस्टर को बिना रुकावट के परिचालन में रखना बहुत कठिन हो गया था। पुराने एक्साइटेशन प्रणाली को बदलने की आवश्यकता काफी समय से महसूस की जा रही थी, किन्तु अत्यधिक खर्च के अनुमान के कारण यह संभव नहीं हो पा रहा था। बीएसएल की टीम ने इसे चुनौती के रूप में लेते हुए मुख्य महाप्रबंधक (अनुरक्षण) डीएन मोहन्ती, मुख्य महाप्रबंधक (पावर), एस के चक्रवर्ती और मुख्य महाप्रबंधक (सीआरएम-3) राजन प्रसाद के नेतृत्व में यह सारा काम हुआ।

उद्घाटन करते अधिकारी।

इस लोगों ने पूरा किया काम

अंजनी कुमार मुख्य महाप्रबंधक (धमन भट्‌ठी) तथा महाप्रबंधक (धमन भट्‌ठी) वेद प्रकाश के मार्ग दर्शन एवं प्रोत्साहन से इटीएल, सीआरएम-3, धमन भट्‌ठी, कैपिटल रिपेयर (विद्युत) इत्यादि विभागों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने पुराने पैनल से जुटाए गए सामानों से नए पैनल का निर्माण एवं टेस्टिंग किया। इस नए प्रणाली को धमन भट्‌ठी के एक्झॉस्टर 923 में लगाया गया, जो सफलता पूर्वक काम कर रहा है। इस प्रणाली को आंतरिक संसाधनों से संपूरित करने से प्रति यूनिट लगभग 30-40 लाख रुपए की बचत का अनुमान है। इस काम को पूरा करने में ईटीएल, कैपिटल रिपेयर (विद्युत) एवं धमन भट्‌ठी के अधिकारियों एवं कर्मियों का योगदान रहा।

X
Bokaro News - new system introduced to remove dust in bsl39s blast furnace
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना