• Home
  • Jharkhand News
  • Chaibasa
  • ढीबरी जला रही सात साल की बच्ची आग से झुलसी, अस्पताल में हुई माैत
--Advertisement--

ढीबरी जला रही सात साल की बच्ची आग से झुलसी, अस्पताल में हुई माैत

ढिबरी जलाने के दौरान आग से झुलसी कुमारडुंगी बारूसाई निवासी जगदीश गोप की 7वर्षीया बच्ची सुमित्रा गोप की मौत इलाज के...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:05 AM IST
ढिबरी जलाने के दौरान आग से झुलसी कुमारडुंगी बारूसाई निवासी जगदीश गोप की 7वर्षीया बच्ची सुमित्रा गोप की मौत इलाज के दौरान सदर अस्पताल में हो गई। सुमित्रा मंगलवार शाम को छह बजे ढिबरी जलाने के क्रम में गंभीर रूप से झुलस गई थी। चिकित्सक के अनुसार बच्ची का शरीर 26 प्रतिशत झुलस गया था। बच्ची को बचाने के दौरान उसकी मां मितीलय देवी का भी हाथ आंशिक रूप से जल गया था। मौत की सूचना मिलने पर सदर थाना पुलिस ने बच्ची के शव को अपने कब्जे में लिया और सदर अस्पताल में पोस्टमॉर्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। घटना के संबंध में बताया जाता है कि बच्ची अपनी दादी के साथ सोती थी। मंगलवार शाम को छह बजे के करीब दादी दरवाजे पर सिकड़ लगाए बिना ही कोई समान खरीदने दुकान चली गई। बच्ची की मां ने बताया कि गांव में बिजली है, लेकिन गरीबी के कारण उनके मकान में बिजली का कनेक्शन नहीं कराया गया है। इस कारण उसका परिवार अब भी ढिबरी युग में जी रहा है।

मां ने बचाने का किया काफी प्रयास

दादी के जाने के बाद बच्ची ने कमरे का दरवाजा खोला अौर मचिस लेकर ढिबरी जलाने का प्रयास कर रही थी। इस क्रम में बच्ची के फ्रॉक में आग ने पकड़ लिया। जब आग की लपटें तेज होने लगी तो बच्ची रोने चिल्लाने लगी। बच्ची की आवाज सुन उसकी मां ने सोचा कि कमरे में कोई बिल्ली घुसी, होगी इसलिए बच्ची डरकर रो रही है, लेकिन जब बच्ची लगातार रोने व चिल्लाने लगी तो उसकी मां उस कमरे की ओर लपकी।

बचाने के दौरान मां भी झुलसी

मां कमरे के अंदर घुसी तो देखा कि बच्ची के शरीर में आग लगी है। उन्होंने जलती बच्ची के शरीर से फ्रॉक फाड़कर अलग करने का प्रयास किया, लेकिन आग की लपटें इतनी तेज थी कि यह संभव नहीं हो सका। इस कारण बच्ची का शरीर काफी हद तक आग से झुलस गया। बच्ची को बचाने के क्रम में मां का हाथ भी झुलस गया। झुलसी बच्ची को कुमारडुंगी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। वहां से देर रात को चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए बच्ची को सदर अस्पताल रेफर कर दिया।