Hindi News »Jharkhand »Chaibasa» व्यवसायियों को एमएसएमई में टैक्स की विशेष छूट नहीं मिलने से निराशा

व्यवसायियों को एमएसएमई में टैक्स की विशेष छूट नहीं मिलने से निराशा

आम बजट पर शहर के व्यापारिक संस्थाओं व आम लोगों ने मिश्रित प्रतिक्रिया दी है। जीएसटी और नोटबंदी में ज्यादा राहत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 02:15 AM IST

आम बजट पर शहर के व्यापारिक संस्थाओं व आम लोगों ने मिश्रित प्रतिक्रिया दी है। जीएसटी और नोटबंदी में ज्यादा राहत नहीं मिलने के बावजूद चैम्बर ऑफ कॉमर्स ने बजट का दिल खोल कर स्वागत किया है। वहीं कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इसे चुनावी बजट बताया है तो कुछ ने इसे मध्यम वर्ग के लोगों को मायूस करने वाला करार दिया है। हालांकि शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में बजट पर किए गए प्रावधानों का सभी ने दिलखोलकर स्वागत किया है। चाईबासा चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने जहां इसे मिला जुला बजट बताया है। वहीं पश्चिम सिंहभूम जिला चैम्बर ऑफ कॉमर्स के महासचिव राजकुमार ओझा ने भी इसे कपड़ा व्यवसायियों के लिए रहत भरा बजट बताया है। चाईबासा चेंबर के अध्यक्ष नितिन प्रकाश ने बताया कि आज के बजट में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के लिए कुछ भी खास घोषणा नहीं की गई है। मध्यम वर्ग के व्यापारियों को काफी उम्मीद थी कि इस बार सरकार एमएसएमई में टैक्स की विशेष छूट की घोषणा करेगी। साथ ही आमजन को भी आयकर के स्लैब में छूट दिए जाने की उम्मीद थी, जिस पर फिर इस साल भी मायूसी ही हाथ लगी है। शिक्षा के क्षेत्र में की गई घोषणा स्वागत योग्य है।

50करोड़ को मेडिकल कवर की घोषणा स्वागत योग्य

अध्यक्ष ने कहा कि आदिवासी बहुल इलाकों में एकलव्य स्कूलों का खोला जाना स्वागत योग्य है। साथ ही स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार द्वारा 50 करोड़ लोगों को 5 लाख तक का मेडिकल कवर किया जाना की घोषणा स्वागत योग्य है। लांग टर्म कैपिटल गेन में 10 पर्सेंट टैक्स लगाए जाने से टैक्स का अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा। आज के बजट में किसानों के लिए भी कई घोषणाएं की गई है।

पूरी तरह से चुनावी बजट - चाईबासा चेंबर के पूर्व अध्यक्ष ललित शर्मा ने इस बजट को निराशा जनक बताया है। उन्होंने कहा कि बजट में मे मध्यम वर्ग के लोगों को नजरअंदाज किया गया है। उन्होंने इसे पूरीत तरह से चुनावी बजट बताया।

वस्त्र व्यवसायियों को न राहत, न नुकसान

सिंहभूम जिला चैम्बर ऑफ कॉमर्स के महासचिव राजकुमार ओझा ने कहा है कि कपड़ा व्यवसायी को बड़ी राहत दी है। हालांकि पीएम मोदी के बजट से व्यवसायी वर्ग को न तो ज्यादा राहत मिली है और न ही किसी तरह का नुकसान हुआ है। कमल लाट ने बताया कि बजट स्वागत योग्य है।

आम बजट को लोगों ने सराहा, कहा- दिखे प्रतिफल तो अति उत्तम

सरायकेला। सरायकेला और सीनी सहित आसपास के क्षेत्रों में केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए आम बजट को सराहना मिली रही है। लोगों ने कहा कि यदि केंद्र सरकार की सोच धरातल पर आ जाए, तो अपना भारत विकसित देशों की दौड़ में शामिल हो जाएगा। वही आयकर स्लैब में बदलाव की उम्मीद लगाए आयकरदाताओं ने बजट को उम्मीद से निराशाजनक बताया है। लोगों ने आम राय दी है कि आम बजट में कृषि से लेकर देश के इंफ्रास्ट्रक्चर तक सभी बातों का पूरा ध्यान रखा गया है। इसीलिए फूड प्रोसेसिंग से फाइबर ऑप्टिकल तक और सड़क से लेकर शिपिंग तक कि विकासवादी रणनीति दी गई है। युवा वर्ग से लेकर सीनियर सिटीजन तक के जरूरतों का ध्यान रखा गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Chaibasa

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×