चाईबासा

  • Home
  • Jharkhand News
  • Chaibasa
  • पीएचडी घोटाला : निर्धारित समय खत्म, अभी जांच भी शुरू नहीं
--Advertisement--

पीएचडी घोटाला : निर्धारित समय खत्म, अभी जांच भी शुरू नहीं

केयू के पीएचडी घोटाले की जांच रिपोर्ट आने में देर होगी। इसकी मुख्य वजह घोटाले की व्यापकता है। इस मामले की जांच के...

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:15 AM IST
केयू के पीएचडी घोटाले की जांच रिपोर्ट आने में देर होगी। इसकी मुख्य वजह घोटाले की व्यापकता है। इस मामले की जांच के लिए गठित कमेटी को 20 मार्च तक अपनी रिपोर्ट सौंपनी थी, लेकिन कमेटी ने अभी तक जांच भी शुरू नहीं की।

ऐसे में जांच कमेटी के चेयरमैन सह प्रोवीसी डॉ आरके सिंह ने समय सीमा बढ़ाने की मांग की है। इस सिलसिले में वे वीसी डॉ शुक्ला मोहंती से मिलेंगे।पीएचडी घोटाले की जांच के लिए 12 मार्च को कमेटी गठित की गई थी। कमेटी को जांच के लिए सात दिन का समय दिया गया था। लेकिन यह समय सीमा खत्म होने तक विवि ने जांच कमेटी में शामिल सदस्यों को उनके चयन के संबंध में औपचारिक सूचना तक नहीं भेजी।

शोध के सभी मामलों की होगी जांच

पीएचडी घोटाले की जांच के लिए गठित कमेटी 2012 से अब तक हुए सभी मामलों की गहन जांच करेगी। इस दौरान डिपार्टमेंटल रिसर्च काउंसिल (डीआरसी) का भी गठन किया जाएगा। जानकारी के अनुसार केयू की ओर से गठित विभिन्न विभागों के डीआरसी में संबंधित नियम का अनुपालन नहीं किया गया है। विवि में प्रोफेसर के बिना ही एसोसिएट एवं असिस्टेंट प्रोफेसर को शामिल कर काउंसिल गठित की गई, जो सही नहीं है। जांच के दौरान कमेटी इन सारे तथ्यों पर फोकस करेगी। मालूम हो कि इस घोटाले की शिकायत राज्यपाल से लेकर शिक्षा मंत्री से विभिन्न छात्र संगठनों ने की है। सिंडिकेट बैठक में भी इसे जोर-शोर से उठाया गया था।


Click to listen..