लोगों के विरोध के बाद नप बैकफुट पर अब शहर में ही बनेगा आधुनिक बस स्टैंड

Chaibasa News - ग्रामीणों के विरोध के बाद चाईबासा नगर परिषद की सिकुरसाई में बस स्टैंड बनाने की तैयारी पर पानी फिर गया है। अब...

Sep 14, 2019, 06:30 AM IST
Chaibasa News - after the protest of the people the modern bus stand will now be built in the city on the nap backfoot
ग्रामीणों के विरोध के बाद चाईबासा नगर परिषद की सिकुरसाई में बस स्टैंड बनाने की तैयारी पर पानी फिर गया है। अब पुराने बस स्टैंड के विस्तार व इसे बेहतर बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। इसपर 3 करोड़ से भी ज्यादा राशि खर्च होगी। बस स्टैंड में यात्री सुविधाएं बढ़ेंगी, साथ ही ज्यादा से ज्यादा बसों के ठहराव की व्यवस्था की जाएगी। इस मद में नप के पास पहले ही 3.25 करोड़ रुपए पड़े हैं।

नप अधिकारी के अनुसार, यात्रियों की सुविधा के मद्देजर अब निजी और सरकारी को मिलाकर 3.5 एकड़ में वृहद बस स्टैंड बनाया जाएगा। इससे यहां यात्रियों को बैठने के लिए वेटिंग हाल, पानी- बिजली आदि की बेहतर सुविधा मिल सकेगी। नप की ओर से एक्वा पम्प नामक कंसलटेंट को आधुनिक बस स्टैंड का डीपीआर तैयार करने को कहा गया है।

जानकारी के अनुसार, हाल ही में आधुनिक बस स्टैंड बनाने के लिए शहर से सटे सिकुरसाई गांव में करीब 4 एकड़ जमीन की तलाश की गई थी। साथ ही इसकी जानकारी जिला प्रशासन को भी दे दी गयी थी। इसके बाद जिला प्रशासन द्वारा इस जमीन के अंतर विभागीय हस्तांतरण की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी थी। इसक भनक लगते ही आसपास के ग्रामीणों ने विरोध करना शुरू कर दिया था। हालांकि विरोध के स्वर सिकुरसाई गांव में अब तक नहीं उठी है, लेकिन आसपास के गांव में यह विरोध शुरू हो गई थी। ऐसे में नप को यहां से पीछे हटना पड़ा है।

एक्वा पम्प तैयार करेगा 3.25 करोड़ रुपए का डीपीआर

निजी बस स्टैंड का जर्जर यात्री विश्रामागार।

इसलिए नए बस स्टैंड की है जरूरत

मौजूदा समय में निजी बस स्टैंड 1.5 एकड़ में फैला है। यहां से रोजाना 110 से 120 बसों का विभिन्न शहर व कस्बों के लिए आवागमन होता है। हर दिन 5 हजार यात्री बसों के माध्यम से सफर करते हैं। बस स्टैंड में करीब 37 साल पुराना यात्री विश्रामागार भी है, जो काफी जर्जर हो गया है। रखरखाव के अभाव में इसके प्लास्टर गिरने लगा है। अब तक दो यात्री जख्मी भी हो चुके हैं व तीन लोग सिलिंग के प्लास्टर गिरने से बाल- बाल बचे हैं।

भास्कर न्यूज|चाईबासा

ग्रामीणों के विरोध के बाद चाईबासा नगर परिषद की सिकुरसाई में बस स्टैंड बनाने की तैयारी पर पानी फिर गया है। अब पुराने बस स्टैंड के विस्तार व इसे बेहतर बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। इसपर 3 करोड़ से भी ज्यादा राशि खर्च होगी। बस स्टैंड में यात्री सुविधाएं बढ़ेंगी, साथ ही ज्यादा से ज्यादा बसों के ठहराव की व्यवस्था की जाएगी। इस मद में नप के पास पहले ही 3.25 करोड़ रुपए पड़े हैं।

नप अधिकारी के अनुसार, यात्रियों की सुविधा के मद्देजर अब निजी और सरकारी को मिलाकर 3.5 एकड़ में वृहद बस स्टैंड बनाया जाएगा। इससे यहां यात्रियों को बैठने के लिए वेटिंग हाल, पानी- बिजली आदि की बेहतर सुविधा मिल सकेगी। नप की ओर से एक्वा पम्प नामक कंसलटेंट को आधुनिक बस स्टैंड का डीपीआर तैयार करने को कहा गया है।

जानकारी के अनुसार, हाल ही में आधुनिक बस स्टैंड बनाने के लिए शहर से सटे सिकुरसाई गांव में करीब 4 एकड़ जमीन की तलाश की गई थी। साथ ही इसकी जानकारी जिला प्रशासन को भी दे दी गयी थी। इसके बाद जिला प्रशासन द्वारा इस जमीन के अंतर विभागीय हस्तांतरण की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी थी। इसक भनक लगते ही आसपास के ग्रामीणों ने विरोध करना शुरू कर दिया था। हालांकि विरोध के स्वर सिकुरसाई गांव में अब तक नहीं उठी है, लेकिन आसपास के गांव में यह विरोध शुरू हो गई थी। ऐसे में नप को यहां से पीछे हटना पड़ा है।

निजी बस स्टैंड : डेढ़ एकड़ में

रोज बसें लगती है : 110 से 120

रोजाना सफर करते हैं यात्री : 4 से 5 हजार

सरकारी बस स्टैंड : 2 एकड़ में

रोज खुलती है यात्री बसें : 6

रोज खुलती है छोटी सवारी गाड़ी : 150 से 200

रोज सफर करते हैं यात्री : 1500 से 2 हजार

ये होगा फायदा








फैक्ट फाइल




X
Chaibasa News - after the protest of the people the modern bus stand will now be built in the city on the nap backfoot
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना