7वंे दिन हाथियों के झुंड ने आनंदपुर के सोदा गांव में तोड़ा मकान, दंपती ने दूसरे गांव भागकर बचाई जान

Chaibasa News - हाथियों ने पिछले एक सप्ताह से गांवों में उत्पात मचा रखा है। रविवार की रात 8 बजे हाथियों का झुंड रूंगीकोचा पहाड़ से...

Dec 10, 2019, 08:10 AM IST
हाथियों ने पिछले एक सप्ताह से गांवों में उत्पात मचा रखा है। रविवार की रात 8 बजे हाथियों का झुंड रूंगीकोचा पहाड़ से होते हुए सोदा गांव पहुंचा और ऊपर टोला के रहने वाले जेम्स गुड़िया का 50 डिसमील, जोसेफ गुड़िया का 50 डिसमील, फ्लिप बागे का 50, कुशल गुड़िया का 50 डिसमील, भूषण गुड़िया का 50 डिसमील, मसीह चरण गुड़िया का 50 डिसमील, मेरी बागे का 50 डिसमिल और अशीसन बागे का 50 डिसमिल धान की फसल को रौंद दिया। इसके बाद हाथियों ने टोले में उत्पात मचाना शुरू कर दिया। इधर, जेम्स गुड़िया और थॉमस बागे के घर को अपने नुकीले दांत और सिर से मारकर क्षतिग्रस्त कर दिया। हाथियों ने थॉमस बागे के आंगन में रखे 50 किलोग्राम धान को भी चट कर दिया। लोगों ने बताया कि 25 हाथियों के झुंड को गांव से भागने में काफी दिक्कतें हुई बड़ी मुश्किल से सुबह के 4 बजे तक ग्रामीणों ने सफलता पाई। इधर, हाथियों का झुंड भागने के क्रम में बंट गए आधे गोयराबेड़ा तो आधे हरता की ओर भाग गए। मौके पर पोड़ाहाट वन विभाग के वनकर्मी वनपाल ज्ञानचन्द्र प्रसाद ने पीड़ितों से पूरी जानकारी हासिल की और उनका नाम एंव हुए नुकसान से संबधित रिपोर्ट बनायी। गांव वालों ने विभाग से मोबिल, ट्रार्च, पटाखा आदि देने की मांग भी की।

रविवार रात 8 बजे हाथियों के झुंड ने कई किसानों की फसल रौंदी

हाथी की ओर से तोड़े गए मकान घटना के बाद वन विभाग के वनपाल बयान लेते।

हाथियों के डर से भागे दंपती, दूसरे गांव में बिताई रात

दंपती जेम्स गुड़िया और प|ी ब्रेनादेथ गुड़िया ने बताया कि रात के करीब 12 से 1 बजे के बीच हाथियों का झुंड ने घर पर धावा बोल दिया। झुंड चिंघाड़ते हुए दीवार पर लगातर ठोकरे मार रहा था। हमलोग दंपति और हमारा एक बेटा अनरोड गुड़िया 2 वर्ष को लेकर दूसरे कमरे में जाकर दुबक गए। 30 मिनट तक उत्पात मचाने के बाद हाथियों का झुंड जैसे ही आंगन से खिसके वैसे ही दंपति अपने बेटे को लेकर जंगल के रास्ते हरता पहुंचकर रिश्तेदार के यहां रात बिताई।

हाथियों को भगाने के लिए ऐसा कोई प्रोविजन नहीं : विभाग

वन विभाग के अधिकारियों से हाथियों को भगाने का सटीक उपाय के बारे पूछा गया ताे जवाब में विभाग ने कहा- पश्चमी सिंहभूम में हाथियों को भगाने के लिए ऐसा कोई प्रोविजन नहीं है। जानकारों की मानें तो हजारीबाग और पलामू जोन में विभाग की ओर से हाथियों को खदेड़ने के लिए कोलकत्ता से निजी तौर और बंगाली टीम को हायर करती है। लेकिन वन विभाग इस क्षेत्र में टीम को कभी हायर नहीं करती है जिसका दंश ग्रामीणों को झेलना पड़ रहा है।

यह भी जानें

आनंदपुर प्रखंड में पिछले 7 दिनों से हाथियों ने बागचट्टा, समीज, गुड़गांव, रूंगीकोचा, गोंदपुर और सोदा के कुल 32 किसानों का धान समेत अन्य फसलों को नुकसान पहुंचाया है। जिसमें किसानों को अबतक 50 हजार रुपये से भी ज्यादा का नुकसान हुआ है। इस वर्ष बारिश की कमी की वजह से वैसे ही धान की फसल को लेकर किसानों का दिवालिया निकल गया है। ऊपर से हाथियों की ओर से लगातार फसल चटकर जाने से किसान चिंताजनक स्थिति में है।





X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना