सरकारी काम कर रहे ठेकेदार से लेवी मांगने वाले दो नक्सली गिरफ्तार, जेल

Chaibasa News - गुदड़ी थाना अंतर्गत बिरकेल नाला के पास चल रहे सरकारी कार्यों में ठेकेदार से लेवी मांगने के मामले में गुदड़ी पुलिस ने...

Nov 11, 2019, 06:21 AM IST
गुदड़ी थाना अंतर्गत बिरकेल नाला के पास चल रहे सरकारी कार्यों में ठेकेदार से लेवी मांगने के मामले में गुदड़ी पुलिस ने दो नक्सली को गिरफ्तार किया है। इनमें गुड़ीदरी का मंगल बोदरा उर्फ लोक्को और बीरकेल का याकूब टूटी शामिल हैं। दोनों नक्सलियों के खिलाफ हत्या के तीन मामले गुदड़ी थाने में ही दर्ज हैं।

दोनों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज करके रविवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। रविवार शाम पश्चिमी सिंहभूम के एसपी इंद्रजीत महथा ने बताया- मंगल बोदरा उर्फ लोक्को और याकूब टूटी सितंबर-2018 में पुलिस बल पर हमला करने के भी आरोपी हैं। शनिवार को ठेकेदार से लेवी मांगने की जानकारी पुलिस को मिली थी। उसके बाद एएसपी नाथुसिंह मीना के नेतृत्व में टीम बनाई। टीम ने छापेमारी कर दोनों नक्सलियों को गिरफ्तार किया। दोनों नक्सलियों के पास से पुलिस ने पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई) के पैड पर ठेकेदार से लेवी मांगने के लिए लिखा गया पत्र, जींस पैंट आदि बरामद किया।

दोनों सितंबर 2018 में पुलिस बल पर हमला करने के भी आरोपी

नक्सलियों की जानकारी देते एसपी इंद्रजीत महथा।

गुदड़ी के सिमको में 8 नवंबर की रात हुई थी हाबिल सामड की हत्या, थानेदार के बयान पर केस

मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में तीसरे दिन कब्र से निकाला गया हाबिल का शव

गुदड़ी सिमको के रहने वाले 40 वर्षीय हाबिल सामड की नक्सलियों ने 8 नवंबर की रात 8 बजे घर के बाहर कुछ दूरी पर गोली मारकर हत्या दी थी। पुलिस ने घटना के तीसरे दिन बाद मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में वीडियोग्राफी के साथ शव को कब्र से निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इस मामले में गुदड़ी थानेदार के बयान पर मामला दर्ज किया गया है।

एसपी इंद्रजीत महथा ने बताया- घटनास्थल से पांच खोखा बरामद किया गया है। खोखा देखकर लगता है कि किसी भारी भरकम हथियार से गोली मारी गई है। शरीर पर जख्म के निशान हैं। 8-12 की संख्या में हथियारबंद नक्सली घर पर पहुंचे हुए थे। मृतक के परिवार ने किसी नक्सली की पहचान नहीं की है। हमलावर पीएलएफआई के हो सकते हैं। मृतक के परिवार के लोगों और स्थानीय लोगों ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया- सभी हमलावर नकाब लगाए हुए थे। किसी का चेहरा नहीं दिख रहा था। कोई हाबिल को पुलिस का मुखबिर भी बता रहा था, लेकिन पुलिस ने साफ किया है कि यह बात झूठी है। चार दिनों के अंतराल में कब्र से शव निकालने और पोस्टमार्टम कराने की यह दूसरी घटना है।

प्लेसमेंट एजेंसी में काम करता था हाबिल

हाबिल सामड के बारे में पूछताछ में पुलिस का पता चला है कि वह किसी प्लेसमेंट एजेंसी में काम करता था। खेती-बाड़ी में भी लगा रहता था। एजेंसी में काम करने के कारण ही उसका गांव से बाहर भी आना-जाना लगा रहता था। पुलिस को आशंका है कि हो सकता है नक्सलियों ने उससे लेवी मांगी हो और उसने नहीं दिया हो। हालाकि पुलिस अभी तक किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है। अभी जांच चल रही है।

8 नवंबर को सड़क हादसे में मृत सनातन निकला नक्सली, महाराज प्रमाणिक दस्ते का था सदस्य

चक्रधरपुर केडिया पेट्रोल पंप के पास आठ नवंबर की रात बाइक और कार की टक्कर में मृत कुचाई (खरसावां) प्रखंड के जोमरो गांव निवासी सनातन कांडिर (23) नक्सली महाराज प्रमाणिक दस्ते का सदस्य निकला। एसपी इंद्रजीत महथा ने बताया- सनातन के खिलाफ कुचाई थाने में 2, चाईबासा में एक और टोकलो थाने में भी मामला दर्ज है। हाल ही में टोकला थाना के एक मामले में वह जमानत पर छूटा था। हादसे में घायल सनातन का साथी देवसाई कांडिर गंभीर रूप से घायल हुआ था। दोनों खूंटपानी मेले से कुचाई लौट रहे थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना