--Advertisement--

पत्थलगड़ी पर सीएम के बयान से झामुमो विधायक भड़के

खूंटी के एक कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा पत्थलगड़ी के पीछे राष्ट्र विरोधियों के होने के...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:10 AM IST
खूंटी के एक कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा पत्थलगड़ी के पीछे राष्ट्र विरोधियों के होने के बयान की निंदा झामुमो ने की है। किसी को भी राष्ट्र विरोधी, चोर, मिर्चा लगा जैसे शब्द उपयोग करना सही नहीं है। उक्त बातें बुधवार को चक्रधरपुर में झामुमो के तीन विधायक दीपक बिरुवा, शशिभूषण सामड़ और दशरथ गागराई ने कहा। विधायक बिरुवा ने कहा कि खुद मुख्यमंत्री रघुवर दास राष्ट्र, संविधान और आदिवासी विरोधी हैं। उन्हें आदिवासी परंपरा की जानकारी नहीं है। राज्य के 13 जिले अनुसूचित जनजाति में आते हैं। यहां पर अलग से कानून की व्यवस्था की गई है। पंचायत के उपवंध के विस्तार अधिनियम 13 जिले में लागू है। बाकि सामान्य जिले में पंचायती राज लागू है। सरकार को स्पष्ट करना चाहिए ये दोनों कानून कहां-कहां लागू है। खुद मुख्यमंत्री ही राष्ट्र विरोधी, संविधान विरोधी और आदिवासी विरोधी हैं। वहीं विधायक दशरथ गागराई ने कहा कि पत्थलगड़ी रुढ़ीवादी परंपरा से चलते आ रही है। पत्थलगड़ी करने वाले को आप राष्ट्र विरोधी कह रहे हैं। मुख्यमंत्री वोट देने वाले को कुचलना चाहते हैं। जिन्होंने विधायक से मुख्यमंत्री बनाया। यदि कुचलना है तो मंत्री सरयू राय को कुचलें। पूर्व सीएम मधु कोड़ा को आदिवासी नेता होने के कारण फंसाए जाने की बात सीएम कहते हैं। जबकि कोल्हान के लोग ही मधु कोड़ा को विधायक बनाए थे। जिस कारण वह मुख्यमंत्री बने थे। कोल्हान के आदिवासियों को मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा सर्टिफिकेट देने की जरूरत नहीं है। वहीं विधायक शशिभूषण सामड़ ने कहा कि राज्य में राम भरोसे सरकार चल रही है।

प्रेस कांफ्रेंस करते विधायक।