Hindi News »Jharkhand »Chakradharpur» ईस्टर पर जी उठे प्रभु यीशु, ईसाई समुदाय ने पूर्वजों को किया याद, मनाया जश्न

ईस्टर पर जी उठे प्रभु यीशु, ईसाई समुदाय ने पूर्वजों को किया याद, मनाया जश्न

प्रभु यीशु के पुनर्जीवित होने पर ईसाई समुदाय ने ईस्टर संडे मनाया। पोड़ाहाट अनुमंडल के चर्चों में विशेष प्रार्थना...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:10 AM IST

ईस्टर पर जी उठे प्रभु यीशु, ईसाई समुदाय ने पूर्वजों को किया याद, मनाया जश्न
प्रभु यीशु के पुनर्जीवित होने पर ईसाई समुदाय ने ईस्टर संडे मनाया। पोड़ाहाट अनुमंडल के चर्चों में विशेष प्रार्थना की गई। प्रभु यीशु को याद करते हुए पूर्वजों का याद किया। वहीं ईस्टर डे की पूर्व संध्या पर शनिवार को गिरजाघरों और चर्चों में विशेष प्रार्थना सभाएं आयोजित की गई। मसीही विश्वासियों ने प्रभु यीशु के पुनर्जीवित होने की याद में पूजा अर्चना की। प्रवचन के माध्यम से प्रभु यीशु के मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी गई। प्रार्थना सभाओं में सभी के कल्याण की कामना की गई और दूसरों के सुख के लिए कष्ट सहने का संकल्प लिया गया। रात के 12 बजते ही ईस्टर डे की बधाइयां देने का सिलसिला शुरू हो गया। केक काटा गया। प्रभु के पुनर्जीवित होने की खुशियां मनाई गई। रविवार की अहले सुबह लोगों ने अपने पूर्वजों की कब्र पर फूल चढ़ाया एवं कैंडल जलाकर अपने पूर्वजों को याद किया। अहले सुबह की अंधेरे में कब्रगाह पर कैंडलों की रोशनी से जगमगा उठा। वहीं पूर्वजों के लिए प्रार्थना भी की गई। इसके बाद गिरजा घरों और चर्चों में आयोजित प्रर्थना सभा में भाग लिये।

बुढ़ीगाेड़ा चर्च में भी प्रार्थना

ईस्टर का खुशी अनुमंडल के चक्रधरपुर, मनोहरपुर, गोईलकेरा, बंदगांव, सोनुवा, गुदड़ी, आनंदपुर प्रखंड में मनाया गया। चक्रधरपुर शहर में सीएनटाई चर्च, जीईएल चर्च, विलिवर्स चर्च, बुढ़ीगोड़ा चर्च में प्रार्थना सभा हुई। बता दें कि ईस्टर ईसाइयों के सबसे खास दिनों में से एक है। दुनिया भर में क्रिश्चियन्स इस दिन को खुशी से मनाते हैं। गुड फ्राइडे के दिन ईसा मसीह को क्रॉस पर लटकाया गया था। मान्यता है कि इसके तीन दिन बाद जीज़स पुनःजीवित हुए थे। इसी दिन को ईस्टर की तरह मनाते हैं। मानते हैं कि जीज़स ने दुनिया के पापों की कीमत चुकाने के लिए ये दुख सहन किया था।

ईस्टर संडे पर कब्रगाह पर पूर्वजों को याद करते लोग।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Chakradharpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×