--Advertisement--

बाइक खराब नहीं होती तो बच जाती सबकी जान

ऐरे बोंगा यानि शगुन की पूजा दिन में सूर्यास्त से पहले ही हो गई थी, लेकिन दूल्हे पक्ष की दो बाइक शाम को किसी कारणवश...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:15 AM IST
ऐरे बोंगा यानि शगुन की पूजा दिन में सूर्यास्त से पहले ही हो गई थी, लेकिन दूल्हे पक्ष की दो बाइक शाम को किसी कारणवश स्टार्ट नहीं हो रही थी, सबलोग गाड़ी स्टार्ट होने का इंतजार कर रहे थे। इसी चक्कर में खाना भी नहीं बना था। सबने योजना बनायी कि यहां से निकलकर कहीं और रास्ता में ही खाना पीना किया जाए। बलि दिए गए पशु-पक्षी भी साथ थे। दूल्हा चमन ने बताया कि पूजा के बाद सब लोग रोड पर बाइक ठीक होने का इंतजार कर रह रहे थे। उसी समय कार ने आकर सबको रौंद दिया। कार चक्रधरपुर के ट्रांसपोर्टर प्रदीप अग्रवाल की है। बताया जा रहा है कि घटना के वक्त उनका बेटा भी कार में था। देर रात स्थानीय विधायक शशिभूषण सामड़, डीसी और एसपी भी अस्पताल पहुंचे।

सड़क किनारे रखे बर्तन।

झामुमो, आजसू का रोड जाम आज

कार द्वारा छह लोगों को रौंद दिए जाने के मामले को लेकर रविवार को झामुमो ने उलीडीह मे एनएच में रोड जाम का एलान कर दिया है। चक्रधरपुर विधायक शशिभूषण सामड़ और आजसू पार्टी के जिलाध्यक्ष सिद्धार्थ शंकर महतो ने यह घोषणा की है।

पकड़े गए सौरव ने पी रखी थी शराब

जिस लाल रंग की एसएसएक्स कार ने पूजा कर रहे लोगो को रौंदा है वह कार चक्रधरपुर के ट्रांसपोर्टर सह बस ऑनर एसोसिएशन के सदस्य प्रदीप अग्रवाल की बताई जा रही है। कहा जा रहा है कि प्रदीप का बेटा सौर‌व अग्रवाल उर्फ चुनमुन कार ड्राइव कर रहा था। सौरव ने शराब पी रखी थी। बताया जा रहा है कि कार संख्या जेएच 05क्यू 8387 के अंदर बियर और की शराब की बोतलें थीं, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। घटना के बाद भाग रहे सौरव को लोगों ने पकड़ लिया और जमकर धुनाई की। बाद में पुलिस उसे लोगों से छुड़ा कर थाने ले आई। प्रदीप विदेश में ही रहता है। इन दिनों छुट्टी में घर आया हुआ था।

प्रदीप अग्रवाल का बेटा जिसे लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले किया।