• Home
  • Jharkhand News
  • Chitarpur
  • रजरप्पा कोल वाशरी को किसी हाल में बंद नहीं होने देंगे
--Advertisement--

रजरप्पा कोल वाशरी को किसी हाल में बंद नहीं होने देंगे

इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष ददई दुबे सोमवार को रजरप्पा स्थित ऑफिसर्स क्लब पहुंचे। यहां पहुंचकर उन्होंने यूनियन...

Danik Bhaskar | Jul 10, 2018, 02:20 AM IST
इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष ददई दुबे सोमवार को रजरप्पा स्थित ऑफिसर्स क्लब पहुंचे। यहां पहुंचकर उन्होंने यूनियन नेताओं के साथ बैठक की और नेताओं से सीसीएल रजरप्पा के बारे में जानकारी हासिल की। इस दौरान उन्होंने नेताओं को यूनियन की मजबूती पर कार्य करने का निर्देश दिया।

साथ ही सदस्यता अभियान चलाकर ज्यादा से ज्यादा लोगों को यूनियन से जोड़ने की बात कही। बैठक के पश्चात पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि रजरप्पा कोल वाशरी प्रत्येक वर्ष सीसीएल को करोड़ों रुपए का फायदा पहुंचाने का काम करता है लेकिन आज वह बंदी के कगार पर है। ददई दुबे किसी भी हाल में रजरप्पा कोल वाशरी को बंद नहीं होने देगा। अगर प्रबंधन मजदूरों के शोषण का प्रयास करेगी तो हमारी यूनियन मुंहतोड़ जवाब देगी। जरूरत पड़ी तो आंदोलन भी किया जा सकता है। पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने आगे कहा कि अभी अगर सम्मान के साथ समझौता हुआ तभी इंटक का विलय हो सकता है। इस संबंध में संजीवा रेड्डी के साथ पहले चरण की वार्ता हुई है। 12, 13 व 14 को दिल्ली में बैठक होगी। निष्कर्ष के बाद दोनों ओर से लोग बैठकर सुलहनामा का फैसला करेंगे। कांग्रेस की वर्तमान स्थिति व मजदूरों की समस्याओं को देखते हुए दोनों गुट एक होकर राजनीति करेंगे तो ज्यादा फायदा होगा।

नेताओं ने ददई दुबे का किया जोरदार स्वागत

इससे पूर्व इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष ददई दुबे के रजरप्पा पहुंचने पर यूनियन नेताओं द्वारा जोरदार स्वागत किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने उन्हें फूल मालाओं से लाद दिया। स्वागत करने वालों में क्षेत्रीय अध्यक्ष नंहकूनाथ चौधरी सहित असलम खान, राजेन्द्र नाथ चौधरी, हाजी अख्तर आजाद, मनीष पांडेय, प्रदीप अग्रवाल, एनके दास, चिंतामण मांझी, शनिचर मांझी, रंजीत चटर्जी, मुख्तार मियां, बिपिन विहारी सिंह, सुंदर करमाली,शशिकांत सिंह गोलू, सहित कई शामिल थे।

इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष ददई दुबे ने रजरप्पा के ऑफिसर्स क्लब में बैठक कर दी जानकारी

रजरप्पा ऑफिसर्स क्लब में पत्रकारों से बातचीत करते ददई दुबे व अन्य।