--Advertisement--

जल्द चालू होगी रोहिणी करकट्टा खदान

सीसीएल एनके एरिया ने वित्तीय वर्ष 2017-18 में कोयला उत्पादन व डिस्पैच में नया रिकॉर्ड बनाया है। जीएम ऑफिस में मंगलवार...

Danik Bhaskar | Apr 04, 2018, 02:20 AM IST
सीसीएल एनके एरिया ने वित्तीय वर्ष 2017-18 में कोयला उत्पादन व डिस्पैच में नया रिकॉर्ड बनाया है। जीएम ऑफिस में मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके महाप्रबंधक केके मिश्रा ने बताया कि केडीएच परियोजना में जमीन की समस्या व पुरनाडीह में लंबे समय तक बंद जैसी विषम परिस्थितियों के बावजूद एरिया ने यह उपलब्धि हासिल की है। मिश्रा ने कहा कि 2016-17 की तुलना में एरिया ने अच्छा प्रदर्शन किया है। 70 लाख 36 हजार टन से ज्यादा कोयला उत्पादन किया, जो गत वर्ष की तुलना में 21 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं, 71 लाख 99 हजार आठ सौ 42 टन डिस्पैच कर 28.30 प्रतिशत वृद्धि कर नया इतिहास रचा है। जल्द ही रोहिणी करकट्टा ओपन कास्ट नई परियोजना खोलने जा रही है। 10 मिलियन टन की इस परियोजना में 8.5 मिलियन टन आउटसोर्सिंग से और 1.5 मिलियन टन कोयला सीसीएल खुद उत्पादन करेगी। इसके लिए जीआर रिपोर्ट बनाई जा चुकी है। राज्य सरकार का अपरुवल आते ही ओपन कास्ट का काम शुरू हो जाएगा। उन्होंने जोड़ देकर कहा कि अब एरिया के अच्छे दिन आने वाले हैं। यहां प्रचुर मात्रा में कोयला का भंडारण है। इस वित्त वर्ष 2018-19 में एरिया ने 94 लाख टन उत्पादन करने लक्ष्य रखा है। इसके लिए केडीएच को 25 लाख टन, पुरनाडीह को 30 लाख टन, डकरा को छह लाख और रोहिणी परियोजना को 33 लाख टन का लक्ष्य मिला है, जबकि चुरी परियोजना में कंटेनर माइनर मशीन लगाई जा रही है। उम्मीद है कि यहां आगामी जून-जुलाई से कोयला उत्पादन चालू हो जाएगा। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष 23.5 लाख टन उत्पादन में वृद्धि को सभी के सहयोग से प्राप्त कर लिया जाएगा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते केके मिश्रा।