• Home
  • Jharkhand News
  • Dakra
  • विद्यालय की छत से प्लास्टर गिरने से पढ़ने नहीं आते बच्चे
--Advertisement--

विद्यालय की छत से प्लास्टर गिरने से पढ़ने नहीं आते बच्चे

कोयलांचल में सीसीएल के अनुदान से चलने वाले मोहननगर उड़िया प्राथमिक विद्यालय की दशा दयनीय है। इस स्कूल में बुधवार...

Danik Bhaskar | Apr 12, 2018, 02:10 AM IST
कोयलांचल में सीसीएल के अनुदान से चलने वाले मोहननगर उड़िया प्राथमिक विद्यालय की दशा दयनीय है। इस स्कूल में बुधवार को पांच से छह बच्चे पढ़ाई कर रहे थे। दो शिक्षक श्रवण कुमार और केशव सिंह थे। जब उनसे पूछा गया कि बच्चों की संख्या इतनी कम है, तो शिक्षकों ने बताया कि हाल में परीक्षा कर रिजल्ट निकला गया है।

नए सत्र में बच्चों की संख्या बढ़ेंगे। उनलोगों ने बताया कि स्कूल भवन की छत से प्लास्टर उखड़ कर हमेशा गिरता रहता है, पिछले दिनों दो बच्चों को माथा में चोटें लगी थी। इस डर से कई अभिभावक बच्चों को स्कूल नहीं भेजते हैं। विद्यालय परिसर में डेढ़ वर्ष पूर्व सीसीएल द्वारा तीन लाख की लागत से शौचालय बनवाया गया था, लेकिन पानी का कनेक्शन नहीं रहने के कारण ताला जड़ा है। कई बार अधिकारियों को सूचना दी गई, लेकिन कोई पहल नहीं हुई।

एक चापानल है, जिससे पानी निकलना बच्चों की वश में नहीं है। एनके एरिया के सिविल प्रमुख से बात की गई तो उन्होंने कहा कि आसपास के पाइप लाइन से स्कूल में पानी कनेक्शन करा दिया जाएगा। स्कूल भवन की भी मरम्मत होगी। फिलहाल इस स्कूल में तीन शिक्षक हैं और छह माह से लोगों को वेतन नहीं मिला है।