Hindi News »Jharkhand »Dakra» डकरा की बेटी की पलामू में दहेज के लिए हत्या

डकरा की बेटी की पलामू में दहेज के लिए हत्या

मोहननगर के रहने वाले दिलीप साव की विवाहित बेटी खुशबू (21) को उसके पति निरंजन साव ने अपने परिजनों के साथ मिलकर जिंदा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 09, 2018, 02:25 AM IST

मोहननगर के रहने वाले दिलीप साव की विवाहित बेटी खुशबू (21) को उसके पति निरंजन साव ने अपने परिजनों के साथ मिलकर जिंदा जला कर मार डाला। खुशबूू के ससुराल तरहसी पलामू में शनिवार की सुबह घटना को अंजाम दिया गया। मृतका के पिता दिलीप साव ने बताया कि दहेज के खातिर खुशबूू के ससुराल वाले हमेशा प्रताड़ित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि पिछले पांच माह पूर्व 20 नवम्बर को तरहसी निवासी हरिहर साव के पुत्र से शादी हुई थी।अपने औकात के हिसाब से दान दहेज दे कर बड़ी धूम धाम से शादी किये थे, पर ये नहीं मालूम था कि दहेज के लोभियों ने उनकी बेटी को केरोसिन छिड़क कर जिंदा जला देंगे ।दिलीप ने बताया कि जब बेटी की जलाने की खबर आई तो आननफानन में प|ी और बेटों के साथ उसके ससुराल पहुंचा तो ससुराल वाले घर से गायब थे और पता चला कि खुश्बू को अस्पताल ले जाया गया है।वहां पहुंचा तो देखा कि वहा बूरी तरह से जली हुई है। कुछ घंटों के बाद उसकी मृत्यु हो गई ।उसके मौत बाद तरहसी थाना में उसके पति निरंजन साव, ससुर हरिहर साव, सास मनिता देवी, देवर सतीश सहित अन्य परिजनों पर बेटी को जला कर मार डालने मामला दर्ज कराया। शादी के पूर्व खुश्बू मोहननगर के एक निजी स्कूल में टीचर थी। जब उसकी मौत की खबर आई तो स्कूल के शिक्षक और विद्यार्थी स्तब्ध थे। पढ़ने पढ़ाने में उसकी कुशल शैली को लोग आज भी याद करते है। शादी के पांच महीने बीते भी नहीं थे की इस सुहागिन को दहेज लोभियों केरोसिन छिड़ककर मार डाला। खुशबू की मौत से पूरा मोहननगर मर्माहत है। वह इस वर्ष होली में अपने पति के साथ मायके आई थी और रामनवमी के पहले ससुराल गई थी। घटना के बाद उसकी मां बीना देवी फफक फफक कर रो रही है। उसे विश्वास नहींं हो रहा है कि अब उसकी बेटी अब इस दुनिया मे नही है। वहीं, पिता बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ने की बात कही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dakra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×