Hindi News »Jharkhand »Dakra» डकरा के बेलांगी पहाड़ पर लगी आग से वन संपदा जलकर हो रहे नष्ट

डकरा के बेलांगी पहाड़ पर लगी आग से वन संपदा जलकर हो रहे नष्ट

डकरा से चुरी जाने वाली मुख्य सड़क किनारे मानकी का बेलांगी पहाड़ में लगी आग पहाड़ी पर उगे पेड़ पौधे को जलाकर राख में बदल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 04, 2018, 02:25 AM IST

डकरा के बेलांगी पहाड़ पर लगी आग से वन संपदा जलकर हो रहे नष्ट
डकरा से चुरी जाने वाली मुख्य सड़क किनारे मानकी का बेलांगी पहाड़ में लगी आग पहाड़ी पर उगे पेड़ पौधे को जलाकर राख में बदल दिया है। इससे पहाड़ की खूबसूरती बदरंग हो गई है। पहाड़ी के बगल में बसा गांव के लोग बताते हैं कि पहाड़ के नीचे से भूमिगत खदान गुजरा है। मानकी भूमिगत खदान को बंद हुए 30 वर्ष हो गए। बंद करने के समय खदान के मुहाने को ठीक से बंद नहीं किया गया। जिसके कारण अंदर के बचे कोयले में ऑक्सीजन के संपर्क में आया और कोयला सुलगता चला गया। धीरे-धीरे आग प्रचंडरूप धारण कर लिया। धधकती आग पहाड़ी के उतरी भाग का बड़ा हिस्से को अपने आगोश में ले लिया। लोग बताते हैं शुरुआती दौर में छोटी सी जगह में धुआं दिखाई पड़ रहा था। फिलहाल धीरे-धीरे आग का दायरा बढ़ता जा रहा है। अगलगी से अबतक लाखों की लकड़ी और दुर्लभ वनौषधिया राख हो चुकी हैं।

क्या कहते हैं जिम्मेवार अधिकारी

वन प्रमंडल क्षेत्र के वनपाल अमर पासवान का कहना है पहाड़ी के आग को नियंत्रण करने के लिए सीसीएल के अधिकारियों को कई बार बोला जा चुका है, लेकिन वे ध्यान नहीं देते। सीसीएल का अधिकृत इलाका है जिम्मेवारी उनकी बनती है। सीसीएल अधिकारियों का कहना है कि आग ज्यादा नहीं भड़के इसको लेकर बंद खदान का मुहाना को हमेशा बालू से भरा जाता है। लोहा चोरी की नियत से चोर बालू को हटा देते है। फिर से मुहांने को बंद किया जाएगा। इसके लिए स्थानीय लोगों को भी जागरूक होना होगा।

आग पर काबू पाने की पहल होनी चाहिए नहीं तो गांव जल जाएगा : इस्माइल

श्रमिक नेता इस्माइल अंसारी ने कहा पहाड़ी में लगी आग पर अंकुश लगाने की न तो सीसीएल प्रबंधन और न ही वन विभाग कोई योजना बनाई जा रही है। परिणाम स्वरूप हर साल पेड़-पौधों की हरियाली आग की भेंट चढ़ती जा रही है। साथ ही अगलगी से निकलने वाले जहरीले गैस आपपास की जलवायु पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहा है। इस पहाड़ी को आग से बचा लिया जाए तो निश्चित रूप से कोयलांचल की सुंदरता को बनाए रखा जा सकता है। इसके अलावा गांव भी जल सकता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dakra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×