डाकरा

  • Home
  • Jharkhand News
  • Dakra
  • डकरा में कोयला ट्रक ने मोपेड सवार युवक को कुचला, मौत
--Advertisement--

डकरा में कोयला ट्रक ने मोपेड सवार युवक को कुचला, मौत

एनके एरिया के जीएम ऑफिस के समीप बुधवार की सुबह ट्रक के धक्के से मोपेड सवार छबी चंद्रवंशी नामक युवक की मौत हो गई। छबी...

Danik Bhaskar

Jul 05, 2018, 02:55 AM IST
एनके एरिया के जीएम ऑफिस के समीप बुधवार की सुबह ट्रक के धक्के से मोपेड सवार छबी चंद्रवंशी नामक युवक की मौत हो गई। छबी अपने आवास सुभाषनगर से मोपेड से मटन की दुकान खोलने डकरा आ रहा था। इसी क्रम में डकरा जीएम ऑफिस के पास पिपरवार की ओर जा रहा कोयला ट्रक ने अपनी चपेट में ले लिया। इस घटना में छबी ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। उसके माथे पर ट्रक का चक्का चढ़ गया।

इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने मुआवजा की मांग को लेकर चार घंटे तक ट्रांसपोर्टिंग रोड जाम कराए रखा। लोगों की मांग थी जब तक मुआवजे की घोषणा नहीं किया जाता शव को उठने नहीं दिया जाएगा। चार घंटे तक जाम के कारण सड़कों पर वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। सूचना मिलने के थाना प्रभारी राजीव रंजन लाल और अंचलाधिकारी एस वर्मा घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों को समझाया। विधायक प्रतिनिधि रमेश विश्वकर्मा, ट्रक एसोसिएशन के सुखी गंझू, इस्माइल अंसारी, विकास दुबे, संटू सिंह, जिप सदस्य रतिया गंझू, इंदिरा देवी तुरी, सलामत अंसारी आदि लोगों ने सीसीएल प्रबंधन से वार्ता कर आर्थिक मदद करने की बात रखी।

वहीं, सीओ ने कहा सरकारी प्रावधान के अनुसार जो मुआवजा बनती है दिलाने का प्रयास किया जाएगा। तत्काल परिजनों को दाहसंस्कार के 25 हजार नगद दिया गया। वहीं, पिपरवार प्रबंधन तीन लाख, ट्रक ऑनर एसोसिएशन 40 हजार, एनके प्रबंधन 25 हजार रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। तब घटनास्थल से शव उठाने दिया गया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए रांची भेजवाया।

घटना के बाद बार-बार अचेत हो रही थी प|ी-बच्चे और परिजन

छबी की मौत के बाद घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। प|ी मनीषा देवी बार-बार अचेत हो जा रही थी। वहीं, मृतक के पांच नाबालिग बच्चे कोमल, सन्नी, भोला, दीपाली और सोनाली पिता के शव देखकर दहाड़ मार-मार कर रो रहे थे। छबी मूल रुप से गढ़वा जिला के कल्याणपुर गांव का रहने वाला था। डकरा में भाड़े का मकान में रहकर मटन का दुकान लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता था।

मौत का कारण बनी जर्जर सड़क

एक साल में 50 से अधिक लोग हुए घायल : जर्जर सड़क छबी के मौत का कारण बना, जहां घटना हुआ है उस जगह सड़क में पानी से भरा बड़े-बड़े गड्ढे हैं। ऐसे डकरा कोयलांचल की अधिकतर सड़कें काफी खस्ता हाल में है। इस रास्ते यह दुर्घटना हुई है उस रास्ते पिछले एक साल में 50 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं। हादसे का मुख्य वजह है कि महाप्रबंधक कार्यालय से चुरी बहलाता तक एक किमी की रोड एक छोर तीन फीट ऊंचा पीसीसी ढाला हुआ है, वहीं दूसरी छोर बड़े-बड़े गड्ढे है। बड़ी वाहनों के अलावा दुपहिया वाहन का आना-जाना एक छोर से ही होता है। भास्कर ने पिछले 30 जून को कोयलांचल की सड़क मौत की डगर साबित हो रही है, शीर्षक प्रकाशित कर इस दुर्घटना स्थल को डेंजर जोन चिन्हित कर राहगीरों को आगाह किया था।

Click to listen..