Hindi News »Jharkhand »Dakra» डकरा में स्कूल बस नहीं आने से नाराज बच्चों ने सड़क जाम की

डकरा में स्कूल बस नहीं आने से नाराज बच्चों ने सड़क जाम की

स्कूल बस नहीं आने से नाराज उर्सुलाइन स्कूल के बच्चों ने केडीएच परियोजना कार्यालय के समक्ष 2 घंटे तक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 02:55 AM IST

डकरा में स्कूल बस नहीं आने से नाराज बच्चों ने सड़क जाम की
स्कूल बस नहीं आने से नाराज उर्सुलाइन स्कूल के बच्चों ने केडीएच परियोजना कार्यालय के समक्ष 2 घंटे तक ट्रांसपोर्टिंग रोड जाम कराए रखा। शुक्रवार को सुबह बच्चे स्कूल जाने के लिए तैयार होकर बस पड़ाव पर पहुंचे। आधे घंटे इंतजार के बाद भी बस उन्हें लेने नहीं आया तो सभी एकजुट होकर परियोजना कार्यालय के समक्ष सड़क पर उतर कर ट्रांसपोर्टिंग रोड जाम कर दिए। इससे कोयला वाहनों की लंबी कतार लग गई।

परियोजना के मैनेजर एके तिवारी ने बस चालक को बुलाकर जानना चाहा की बस को आज क्यों नहीं निकाला गया। इस पर चालक गणपत साव ने बताया कि बस की खलासी अपनी ड्यूटी पर नहीं आया है बिना खलासी के अकेले छोटे छोटे बच्चों को लाना ले जना कठिन कार्य है। बच्चे जगह जगह उतरते चढ़ते है इस स्थिति में स्टैंरिग संभालना और पीछे का दरवाजा बंद करना नामुमकीन है। मैनेजर ने बस में कल से कुशल खलासी देने की बात कह कर बच्चों को समझाया बुझाकर जाम हटवाया।

चालक ने बस नहीं निकलने का कारण बतलाया

केडीएच परियोजना के स्कूल बस चालक गणपत साव ने बताया कि पिछले दो वर्ष पूर्व अकेले बस से स्कूली बच्चों लेकर वापस डकरा आ रहा था। दुर्गा मंडप के समीप बस से उतरने के क्रम में एक बच्चा अपने ही बस के चपेट में आ गया और उसकी मृत्यु को गई। इस घटना में प्रबंधन ने अपना पल्ला झाड़ लिया और मुझे दोषी ठहरा कर निलम्बित कर दिया। साथ ही मुझ पर मुकदमा चलाया गया।

क्या कहते हंै अभिभावक

बच्चों के अभिभावकों का कहना कि सीसीएल कर्मचारियों के बच्चे इस बस से स्कूल आते जाते है। बसों की संख्या जरूरत से कम है, वहीं चल रही बसें जर्जर हो गई हैं। एक बस में डेढ़ सौ से ज्यादा बच्चों को ठूंस दिया जाता है। बसों की न सीट ठीक हैं और न ही ब्रेक। जन जोखिम में डाल कर बच्चे सफर करते है। कई बार प्रबंधन से नई बस की मांग की गई है, लेकिन प्रबंधन कोई ध्यान नहीं देता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dakra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×