--Advertisement--

कार्रवाई / अब जलपाईगुड़ी में एनोस की 100 करोड़ की संपत्ति जब्त



सिंबोलिक इमेज सिंबोलिक इमेज
X
सिंबोलिक इमेजसिंबोलिक इमेज

  • पत्नी और कर्मचारी के नाम पर किया था निवेश
  • मेनन ने 4 दिन पहले ही झापा से चुनाव लड़ने की घोषणा की थी

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 01:36 AM IST

धनबाद. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व मंत्री एनोस एक्का की प. बंगाल के जलपाईगुड़ी में 100 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति जब्त कर ली है। इनमें चाय बागान, रिसोर्ट, तालाब और 78.37 एकड़ जमीन शामिल है। ये सभी संपत्ति एनोस की पत्नी मेनन एक्का और कर्मचारी नीरज उरांव के नाम पर थी।

 

एनोस की आय से अधिक संपत्ति की जांच कर रही ईडी की रांची सब जोनल शाखा ने इन संपत्तियों का पता लगाया था। ईडी की टीमें शुक्रवार को ही जलपाईगुड़ी पहुंच गई थीं, जहां मनी लान्ड्रिंग एक्ट 2002 की धाराओं के इन संपत्तियों को अटैच किया गया। इन पर ईडी ने नोटिस भी चिपका दिया है। इससे पहले ईडी ने एनोस की रांची में सात करोड़ की संपत्ति जब्त की थी। गौरतलब है कि मेनन एक्का ने चार दिन पहले ही झापा से चुनाव लड़ने की घोषणा की थी।

 

पत्नी के नाम एक दिन में खरीदी 65.34 एकड़ जमीन : मेनन की कंपनी ने एक दिन में 65.34 एकड़ जमीन खरीदी थी। इनमें चाय बागान और रिसोर्ट भी शामिल है। सारी जमीनें किसमत सुखानी, बहादुर व सतखामर मौजा में हैं। सभी मौजा जलपाईगुड़ी और राजगंज थाना क्षेत्रों में हैं।

 

नीरज के नाम पर 14 दिन में खरीदी थी 13.3 एकड़ भूमि : नीरज उरांव की कंपनी के नाम पर 14 दिन में 13.3 एकड़ के 14 भूखंड खरीदे गए। सबसे बड़ा भूखंड 2.10 एकड़ और सबसे कम 16 डिसमिल का है।

 

पत्नी व कर्मचारी के नाम बनाई थी दो कंपनियां: एनोस ने निवेश के लिए पत्नी मेनन के नाम मोटोरिस्ट इन प्रा. लि. कंपनी बनाकर जलपाईगुड़ी में 48 अचल संपत्तियां खरीदी थीं। वहीं कर्मचारी नीरज उरांव के नाम से वेदिका डाटामेटिसिस प्रा. लि. बनाकर 14 संपत्तियां खरीदी थीं।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..