Hindi News »Jharkhand »Dhanbad» बिजली की नई दर पर आक्रोश, जेएमएम का धरना

बिजली की नई दर पर आक्रोश, जेएमएम का धरना

बिजली का नया दर लागू करना बंद करने सहित चिरकुंडा क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति, बिजली बिल, बिजली पोल, पुराने विद्युत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 03:05 AM IST

बिजली की नई दर पर आक्रोश, जेएमएम का धरना
बिजली का नया दर लागू करना बंद करने सहित चिरकुंडा क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति, बिजली बिल, बिजली पोल, पुराने विद्युत कर्मियों को तत्काल बहाल करने सहित विभिन्न मांगो को लेकर झामुमो चिरकुंडा नगर समिति द्वारा विद्युत विभाग के कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय धरना दिया गया। धरना में मुख्य रूप से पार्टी के केन्द्रीय कार्यकारिणी सदस्य अशोक मंडल सहित जिलाध्यक्ष रमेश टुडू, सचिव पवन महतो मौजूद थे। धरना को संबोधित करते हुए मंडल ने कहा कि जो सरकार द्वारा बिजली दर नये स्तर से लागू हो रही है यह झारखंड की जनता पर बोझ है। झारखंड से उत्पादित बिजली से देश के कोने- कोने में विभिन्न शहरों को रौशन किया जा रहा है। यहां के गरीब मजदूर किसान निवास करते हैं। सात रुपया प्रति युनिट बिजली बिल नहीं दी जा सकती। पुराने दर को रखा जाए। चिरकुंडा क्षेत्र की बिजली व्यवस्था चरमरा गयी है। यहां पर चौबीस घंटे में मात्र पंद्रह घंटे ही विद्युत आपूर्ति की जाती है। प्रत्येक महीने निश्चित समय पर बिजली बिल का प्रपत्र डोर टू डोर देना सुनिश्चित की जाए। चिरकुंडा क्षेत्र में जर्जर पोल को बदला जाए। जहां नहीं है वहां बिजली पोल लगाया जाए। बिजली विभाग के कार्यालय में कार्यरत पुराने विद्युत कर्मियों की छंटनी की गई है, जिसके कारण विद्युत आपूर्ति सहित अन्य कार्यों मे परेशानी हो रही है। छंटनी किये गये कर्मी को तत्काल बहाल किया जाए। संचालन नगर समिति के अध्यक्ष मानिक लाल गोराई ने किया। वहीं धरना में उपेंद्र नाथ पाठक, रामनाथ सोरेन, कजली दासी, मो कलाम, जियाउद्दीन शाह, सहित दर्जनों लोग शामिल थे।

धरना को संबोधित करते अशोक मंडल।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Dhanbad News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बिजली की नई दर पर आक्रोश, जेएमएम का धरना
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Dhanbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×