• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • रंग और गुलाल से सराबोर हुए शहरवासी
--Advertisement--

रंग और गुलाल से सराबोर हुए शहरवासी

जिले भर में रंगों का त्योहार होली धूमधाम से मनाई गई। बुराई पर अच्छाई की जीत की प्रतीक स्वरूप गुरुवार को फाल्गुन...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:25 AM IST
जिले भर में रंगों का त्योहार होली धूमधाम से मनाई गई। बुराई पर अच्छाई की जीत की प्रतीक स्वरूप गुरुवार को फाल्गुन पूर्णिमा के अवसर पर होलिका दहन किया गया। अगले दिन चैत कृष्णा पक्ष प्रतिपदा पर होली मनाई गई।

होलिका दहन के लिए गुरुवार की देर रात तक चौक-चौराहों पर लोगों की भीड़ रही। रात 6:58 बजे भद्रा काल खत्म होते ही होलिका दहन कार्यक्रम हुआ। पंडितों के मंत्रोच्चारण के साथ अग्नि प्रज्जवलित की गई। इसके बाद लोग अपने-अपने घर से गोइठा ले गए थे होलिका दहन के लिए डाला। वहां मौजूद लोग अग्नि की परिक्रमा की। होलिका दहन के भस्म को माथे पर लगा, सुख-समृद्धि व अच्छे स्वास्थ्य की कामना की। इसके बाद चना की झाड़ को होलिका दहन की आग में झुलसाया, जिसे घर के प्रत्येक सदस्य प्रसाद स्वरूप खाया। ऐसी मान्यता है कि होलिका दहन की आग से जले चना को खाने से साल भर स्वास्थ्य ठीक रहता है। कोई दुख-पीड़ा नहीं होती है।

हीरापुर में होली खेलतीं महिलाएं।

होली के रंग में डूबे लोग, देर रात तक चला जश्न का दौर

चैत कृष्ण पक्ष प्रतिपदा के अवसर पर शुक्रवार को होली धूमधाम से मनाई गई। सुबह होते ही लोग जश्न में डूब गए। एक दूसरे पर रंगों की बारिश शुरू हो गई। बच्चे-बुजुर्ग , स्त्री-पुरुष हर लोग रंगों में डूब गए। दोपहर तक एक दूसरे पर रंगों के बौछार होते रहे। दोपहर के बाद गुलाल का दौर शुरू हुआ जो देर रात तक चलता रहा। लोग एक दूसरे के घर गए और हाेली पर्व की बधाई दी। बच्चों तथा अन्य लोगों ने अपने से बड़ों को चरण में गुलाल लगाकर आशीर्वाद लिया। वहीं बड़े-बुजूगों ने छोटों के माथे पर तिलक लगाकर सुखी व स्वास्थ्य रहने का आशीर्वाद दिया।

वनस्थली कॉलोनी में होली का जश्न मनाते लोग।

पार्क मार्केट स्थित चिल्ड्रेन पार्क में होलिका दहन के दौरान जुटी लोगों की भीड़।

बिनोद नगर स्थित मनोकामना मंदिर में फाग गाते लोग।